भाजपा को लोकसभा चुनाव में 200 सीटों तक पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा : खरगे

भुवनेश्वर. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने केंद्र में अगली सरकार ‘इंडिया’ गठबंधन का बनने के प्रति भरोसा जताते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और उसके सहयोगी दलों को 200 सीटें पाने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा क्योंकि लोग उनकी नीतियों का विरोध कर रहे हैं.

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के इस बार 400 से अधिक सीट हासिल करने संबंधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दावे का जिक्र करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने सवाल किया, ”भाजपा को ये सीटें कहां से मिलेंगी? आप (मोदी) दक्षिण भारत में कहीं नजर नहीं आ रहे हैं. देश के बाकी हिस्सों में सीटें आधी हो जाएंगी. भाजपा केंद्र में सरकार नहीं बना पाएगी, उसे 200 सीटें हासिल करने के लिए संघर्ष करना पड़ेगा.” खरगे ने संवाददाता सम्मेलन में कहा राजग के सहयोगी दलों को कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा, ”आप ओडिशा में भी समस्याओं का सामना कर रहे हैं क्योंकि बीजद और भाजपा दोनों से तंग आ चुके लोग कांग्रेस को वोट देने के मूड में हैं.” बीजू जनता दल (बीजद) और भाजपा दोनों पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने दावा किया कि नवीन पटनायक के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता से बाहर हो जाएगी और कांग्रेस राज्य में सरकार बनाएगी. राज्य और केंद्र सरकार की विभिन्न विफलताओं को रेखांकित करते हुए खरगे ने उम्मीद जताई कि लोकतंत्र को बचाने और संविधान की रक्षा के साथ-साथ देश में एकजुटता के लिए इस बार गठबंधन सरकार केंद्र में सत्ता में आएगी.

‘मोदी की गारंटी’ को खारिज करते हुए खरगे ने कहा, ”अतीत में भी, प्रधानमंत्री ने प्रति परिवार 15 लाख रुपये, 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने, प्रति वर्ष दो करोड़ नौकरियां जैसे कई वादे किए थे. वे पूरे नहीं हुए. बल्कि मोदी सरकार में तेल और रसोई गैस सहित सभी वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है.ह्व ओडिशा को कांग्रेस के लिए एक महत्वपूर्ण राज्य बताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि बीजद और भाजपा दोनों ने राज्य को ‘बर्बाद’ कर दिया.

उन्होंने कहा, ”ओडिशा में 25 वर्षों तक नवीन पटनायक की सरकार रहने के बावजूद कोई विकास नहीं हुआ. राज्य प्राकृतिक संसाधनों से समृद्ध है, जिस पर अन्य राज्यों के उद्योग निर्भर हैं. लेकिन यहां कोई विकास नहीं हुआ है.” खरगे ने ओडिशा में बेरोजगारी की ऊंची दर पर भी चिंता जताई. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय श्रमिक संगठन (आईएलओ) की रिपोर्ट के अनुसार, सभी राज्यों में ओडिशा में बेरोजगारी दर सबसे अधिक 41 प्रतिशत है. भ्रष्टाचार का जिक्र करते हुए खरगे ने कहा कि राज्य में चिटफंड और खनन घोटालों के जरिए लाखों करोड़ रुपये लूटे गए हैं.

खरगे ने कहा, ”देश में 30 लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं, जिन्हें पिछले 10 सालों में नहीं भरा गया. इन 30 लाख पदों में से 15 लाख पद दलितों, आदिवासियों और पिछड़े समुदायों के लिए थे.” उन्होंने कहा, ”जैसे ही ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार बनेगी, हम इन सभी रिक्त पदों को भर देंगे. हम 15 अगस्त यानी सरकार बनने के दो महीने के भीतर इस पर काम शुरू कर देंगे.” कंधमाल जिले में एक चुनावी रैली के दौरान लोकतंत्र को बचाने के लिए लोगों से कांग्रेस को वोट देने की अपील करते हुए खरगे ने कहा कि सरकार बनने पर खाद्य सुरक्षा योजना के तहत प्रति व्यक्ति 10 किलो चावल उपलब्ध कराए जाएंगे. उन्होंने लोगों से लोकतंत्र और संविधान बचाने की अपील करते हुए कहा, ”मोदी सरकार एसटी, एससी और ओबीसी के लिए आरक्षण को खत्म करने का प्रयास कर रही है. वह संविधान को बदलने और लोगों को मौलिक अधिकारों से वंचित करने की भी कोशिश कर रही है.”

Related Articles

Back to top button