केंद्र ‘कश्मीर फाइल्स’ को बढ़ावा देकर कश्मीरी पंडितों के दर्द को ‘हथियार’ बना रहा : महबूबा

श्रीनगर/तिरुरवनंतपुरम/देहरादून/मुंबई/जयपुर. पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कहा कि केंद्र जिस आक्रामक तरीके से ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म का प्रचार कर रहा है और कश्मीरी पंडितों के दर्द को ‘हथियार’ बना रहा है, उससे उसकी ‘गलत मंशा’ स्पष्ट हो जाती है.

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख ने कहा कि पुराने घावों को भरने और दोनों समुदायों के बीच अनुकूल माहौल बनाने के बजाय केंद्र ‘‘जानबूझकर उन्हें अलग कर रहा है.’’ महबूबा ने ट्वीट किया, ‘‘जिस तरह भारत सरकार आक्रामक रूप से ‘कश्मीर फाइल्स’ को बढ़ावा दे रही है और कश्मीरी पंडितों के दर्द को हथियार बना रही है, इससे उनकी मंशा स्पष्ट होती है.’’

कश्मीर फाइल्स : कांग्रेस ने संघ परिवार पर उसके ट्वीट का ‘‘दुरुपयोग’’ करने का आरोप लगाया

‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म पर टिप्पणियों को लेकर भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर आयी केरल में कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि संघ परिवार की ताकतों ने इस मुद्दे पर उसके ट्वीट की ‘‘गलत व्याख्या की और उसका दुरुपयोग’’ किया. कांग्रेस के नेता और केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता वी डी सतीशन ने कहा कि पार्टी की प्रदेश ईकाई ने कश्मीर पर जो ट्वीट किया था उसका मतलब यह कहना था कि घाटी में सभी तरह के अत्याचार खत्म होने चाहिए और धर्म या जाति के नाम पर इस मुद्दे से नहीं निपटना चाहिए.

सतीशन ने संसद में कांग्रेस पर निशाना साधते पर एक सवाल के जवाब में पत्रकारों से कहा, ‘‘लेकिन दिल्ली में इसका दुरुपयोग किया जा रहा है. संघ परिवार की ताकतों ने इसकी गलत व्याख्या की.’’ गौरतलब है कि मंगलवार को लोकसभा में केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस की केरल ईकाई के कश्मीरी पंडितों से संबंधित कई ट्वीट्स पर कांग्रेस पर निशाना साधा था.

‘कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को लेकर कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाया जा सकता है : जम्मू-कश्मीर छात्र एसोसिएशन

द जम्मू-कश्मीर स्टूडेंटस एसोसिएशन ने बुधवार को कहा कि ‘कश्मीर फाइल्स’ फिल्म दिखा रहे विभिन्न थियेटरों से ‘परेशान करने वाले वीडियो क्लिप’ सामने आ रहे हैं और आशंका जतायी कि इस कारण देश के विभिन्न हिस्सों में पढ़ाई कर रहे केन्द्र शासित प्रदेश के एक विशेष समुदाय के छात्रों को निशाना बनाया जा सकता है.

यहां के एक कॉलेज में पढाई कर रहे एसोसिएशन के प्रवक्ता नासिर खुएहामी ने एक बयान में कहा, ‘‘संघ शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के छात्रों के खिलाफ अकारण घृणा, अपशब्द और पिटाई के प्रयास जैसी घटनाओं का दायित्व फिल्म के निर्देशक पर होगा.’’ उन्होंने कहा कि फिल्म के रिलीज होने के बाद सोशल मीडिया पर अविश्वास और फूट का माहौल बनाने का प्रयास हो रहा है जिसकी एसोसिएशन ंिनदा करती है.

‘कश्मीर फाइल्स’ के जरिए मुद्दों से ध्यान भटका रही है भाजपा : राजस्थान सरकार के मंत्री का आरोप

राजस्थान के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बुधवार को भाजपा पर आरोप लगाया कि वह ‘कश्मीर फाइल्स’ फिल्म के जरिये जनता का ध्यान महंगाई जैसे वास्तविक मुद्दों से भटकाने का प्रयास कर रही है. खाचरियावास ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘भाजपा कार्यकर्ता सिनेमा घरों में जाते हैं और ‘कश्मीर फाइल्स’ पर नारेबाजी करते हैं. 2014 में भाजपा ने नारा दिया था ‘बहुत हुई महंगाई की मार, अबकी बार मोदी सरकार’ अब जबकि महंगाई उच्चतम स्तर पर है, वह यह नारा नहीं लगा रहे और इस फिल्म के जरिये जनता का ध्यान भटका रहे हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इतिहास में जो दर्ज हो गया है वह तारीख कभी बदलती नहीं है. 1990 में भाजपा सरकार में थी और विश्वनाथ प्रताप सिंह प्रधानमंत्री थे. जब कश्मीरी पंडितों पर जुल्म हुआ उस वक्त सरकार में भाजपा के लोग थे. इस देश में आजादी के पहले और आजादी के बाद भी, सबसे पहले कांग्रेस आतंकवाद से लड़ती रही और उसने कभी आतंकवाद को मौका नहीं दिया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसमें कोई दो राय नहीं है कि कश्मीरी पंडितों पर जुल्म हुआ… और वो वहां (कश्मीर) से छोड़कर आने लगे… उस वक्त सरकार भाजपा की थी. अब कश्मीर से धारा 370 हटा दी… आपकी (भाजपा सरकार की) जिम्मेदारी है कि आपको वापस सबको वही हक दिलाना चाहिए. आतंकवाद से लड़ना कांग्रेस-भाजपा सबकी जिम्मेदारी है. एक फिल्म को लेकर झूठ परोसने से सच्चाई नहीं छुपती.’’

महाराष्ट्र सरकार ने ‘‘द कश्मीर फाइल्स’’ पर केंद्र से जीएसटी पर छूट देने का आग्रह किया

महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने बुधवार को भाजपा विधायकों की उस मांग को ठुकरा दिया जिसमें ‘‘द कश्मीर फाइल्स’’ फिल्म को करमुक्त करने का आग्रह किया गया था. पवार ने कहा कि अगर केंद्र सरकार फिल्म पर जीएसटी में छूट देगी तो वह पूरे देश पर लागू होगा.
विधानसभा में बजट पर हो रही चर्चा पर सवालों का जवाब देते हुए पवार ने कहा कि केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर और राज्य जीएसटी 50-50 प्रतिशत हैं. उन्होंने कहा, ‘‘यह फिल्म कश्मीर के मुद्दे पर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में फिल्म के बारे में बोला है. अगर केंद्रीय जीएसटी में छूट दी जाए तो यह पूरे देश पर लागू होगा.’’ पवार के इस बयान से विपक्षी दल भाजपा के सदस्य आक्रोशित हो गए और उन्होंने सदन से बहिर्गमन किया. भाजपा के 92 विधायकों ने मंगलवार को एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर ‘‘द कश्मीर फाइल्स’’ को मनोरंजन कर से मुक्त करने की मांग उठाई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button