कर्नाटक में बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का कांग्रेस का चुनावी वादा भगवान हनुमान का अपमान : भाजपा

नयी दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को आरोप लगाया कि कर्नाटक में सत्ता में आने पर बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने का कांग्रेस का वादा भगवान हनुमान का ”अपमान” और प्रतिबंधित पॉपुलर फ्रंट आॅफ इंडिया (पीएफआई) को ”बचाने” का प्रयास है.

कांग्रेस पर उसके वादे को लेकर निशाना साधते हुए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि जय श्री राम के नारे को ‘सांप्रदायिक राजनीति’ और ‘भारत का अपमान’ मानने वाली पार्टी से और क्या उम्मीद की जा सकती है. उन्होंने यहां संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, “आज मंगलवार है और इस मंगलवार पर कांग्रेस एक अशुभ विचार लेकर आई. पार्टी ने कर्नाटक चुनाव के मद्देनजर झूठ का पुंिलदा अपना घोषणापत्र जारी किया. हम सभी ने देखा कि कैसे कांग्रेस कर्नाटक की पवित्र भूमि से बजरंगबली का अपमान करने के स्तर तक गिर गई.” उन्होंने कहा कि यह दुस्साहस और तुष्टिकरण की राजनीति की पराकाष्ठा है.
ंिहदू धर्म में हनुमान जी की पूजा करने के लिए मंगलवार का दिन शुभ माना जाता है.

उन्होंने कहा, “यह और कुछ नहीं बल्कि पीएफआई को बचाने की कांग्रेस की कोशिश है. वे पीएफआई और उसके जैसे संगठनों को बचाने के लिए बहाने ढूंढते रहते हैं और यही कारण है कि उन्होंने बजरंग बली का अपमान किया है.” उन्होंने कहा, “यह कांग्रेस के लिए नया नहीं है क्योंकि जय श्री राम का नारा लगाना उसे सांप्रदायिक राजनीति प्रतीत होता है.” उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक की ‘पवित्र भूमि’ में ऐसा वादा किया है जिसके साथ भगवान हनुमान का जुड़ाव है.

कन्नड़ में कर्नाटक के लोगों के नाम एक संदेश में पात्रा ने कहा, “भगवान हनुमान कर्नाटक के गौरव हैं. कर्नाटक भगवान हनुमान की भूमि है और कांग्रेस ने हमारे भगवान का अपमान किया है.” उन्होंने कहा, “कर्नाटक हमारे देवता हनुमान जी पर किए गए इस तरह के अपमान को बर्दाश्त नहीं करने जा रहा है.” संवाददाता सम्मेलन में पात्रा ने कर्नाटक के लोगों के लिए ंिहदी में भी अपना संदेश दोहराया.

उन्होंने कहा, “यह तुष्टिकरण की राजनीति की पराकाष्ठा है. कर्नाटक और भारत के लोग यह बर्दाश्त नहीं करेंगे कि कांग्रेस हनुमान जी का अपमान करे और कहे कि वह बजरंग बली के भक्तों पर प्रतिबंध लगाएगी.” कांग्रेस के घोषणापत्र में कहा गया है, ‘‘हमारा मानना है कि कानून और संविधान पवित्र हैं.कोई व्यक्ति या बजरंग दल, पीएफआई और नफरत एवं शत्रुता फैलाने वाले दूसरे संगठन, चाहे वह बहुसंख्यकों के बीच के हों या अल्पसंख्यकों के बीच के हों, वे कानून और संविधान का उल्लंघन नहीं कर सकते. हम ऐसे संगठनों पर कानून के तहत प्रतिबंध लगाने समेत निर्णायक कार्रवाई करेंगे.’’

भाजपा प्रवक्ता ने कहा, “जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में जय श्री राम का नारा लगाया था, तब कांग्रेस ने उनके नारे लगाने पर आपत्ति जताई थी. इसलिए जय श्री राम का नारा लगाने को भारत का अपमान मानने वाली कांग्रेस पार्टी अब जय बजरंग बली का नारा लगाने वालों को गिरफ्तार करेगी और जेल भेजेगी.” उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस के ‘अशुभ विचारों’ को दर्शाता है. पात्रा ने लगातार चुनावी हार को लेकर विरोधी पार्टी पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा, “कांग्रेस को आज सोचना होगा कि वह 2014 से बार-बार बजरंग बली के ‘प्रकोप’ का सामना क्यों कर रही है.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button