गांधी परिवार ने दिखा दिया कि सच को दबाने के लिए वह किस हद तक जा सकता है: भाजपा

नयी दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पार्टी के सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय के खिलाफ कर्नाटक में प्राथमिकी दर्ज किए जाने को लेकर बुधवार को कांग्रेस पर तीखा पलटवार करते हुए दावा किया कि गांधी परिवार ने फिर से इस बात का सबूत दिया है कि अगर उसे सत्ता मिले तो वह सच को दबाने के लिए किस हद तक जा सकता है. केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी के खिलाफ अपनी पार्टी के आरोपों को दोहराया कि उन्होंने अपने अमेरिका दौरे पर संदिग्ध साख वाले लोगों के साथ मुलाकात की थी.

ईरानी के मुताबिक राहुल गांधी ने जिन लोगों से मुलाकात की थी उनमें अरबपति निवेशक जॉर्ज सोरोस के करीबी लोग भी शामिल थे, जो लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित भारत सरकार को ‘अस्थिर’ करना चाहते हैं. उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान भारतीय प्रवासियों के एक कार्यक्रम की मेजबानी में इस्लामिक सर्कल ऑफ नॉर्थ अमेरिका के तंजीम अंसारी की भागीदारी के लिए भी गांधी पर हमला बोला और कहा कि अंसारी का जमात-ए-इस्लामी के साथ संबंध है.

पार्टी मुख्यालय में उन्होंने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका में प्रतिनिधि सभा के एक प्रस्ताव में इससे पहले दक्षिण एशिया में सक्रिय धर्मशासित समूहों द्वारा लोकतंत्र के लिए उत्पन्न खतरे के बारे में चिंता व्यक्त की गई थी. उन्होंने कहा कि प्रस्ताव के एक हिस्से में इस्लामिक सर्कल ऑफ नॉर्थ अमेरिका और जमात-ए-इस्लामी के बीच संबद्धता के बारे में प्रकाश डाला गया है.

कांग्रेस शासित कर्नाटक में मालवीय के खिलाफ प्राथमिकी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी को राहुल गांधी की अमेरिका यात्रा के संबंध में भाजपा के रुख के खिलाफ प्राथमिकी के संबंध में सूचना मिली है. उन्होंने कहा कि गांधी परिवार ने एक बार फिर सबूत दिया है कि अगर उसे सत्ता मिलती है तो वह सच को दबाने के लिए किस हद तक जा सकता है.

कर्नाटक पुलिस ने भाजपा के अमित मालवीय के खिलाफ कथित मानहानि और कांग्रेस तथा राहुल गांधी के खिलाफ लोगों को उकसाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है. मालवीय द्वारा किए गए एक ट्वीट के सिलसिले में कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) के सदस्य रमेश बाबू ने यह शिकायत दर्ज कराई थी. ट्वीट के साथ साझा किए गए एक एनीमेटेड वीडियो में कथित रूप से राहुल गांधी और कांग्रेस को खराब तरीके से दर्शाया गया है.

ईरानी ने कहा कि कांग्रेस ने अभी तक यह नहीं बताया कि राहुल गांधी ने अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान सुनीता विश्वनाथ से मुलाकात की थी या नहीं? ईरानी ने कहा, ”जब हर भारतीय को पता है कि जॉर्ज सोरोस क्या करना चाहते हैं, तो गांधी उन लोगों के साथ मेलजोल क्यों बढ़ा रहे हैं जिन्हें जॉर्ज सोरोस द्वारा वित्त पोषित किया जाता है? यह भी स्पष्ट है कि यह एकमात्र सोरोस कनेक्शन नहीं है. यहां तक कि कर्नाटक में गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में भी जॉर्ज सोरोस द्वारा वित्त पोषित ओपन सोसाइटी फाउंडेशन के वैश्विक उपाध्यक्ष गांधी के साथ देखे गए थे.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button