बाजार में लगातार आठवें दिन तेजी, सेंसेक्स, निफ्टी ने बनाया नया रिकॉर्ड

मुंबई. वैश्विक रुझानों और विदेशी निवेशकों के समर्थन के दम पर घरेलू शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला लगातार आठवें दिन भी जारी रहने के बीच बृहस्पतिवार को दोनों प्रमुख सूचकांक नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुए. बीएसई का 30 शेयरों वाला मानक सूचकांक सेंसेक्स 184.54 अंक यानी 0.29 प्रतिशत चढ़कर 63,284.19 अंक पर पहुंच गया जो इसका नया रिकॉर्ड है. कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स 483.42 अंक बढ़कर 63,583.07 अंक की ऊंचाई तक भी पहुंच गया था.

इसी तरह एनएसई के सूचकांक निफ्टी ने भी नया रिकॉर्ड बनाया. निफ्टी 54.15 अंक यानी 0.29 प्रतिशत की बढ़त के 18,812.50 अंक पर बंद हुआ. विश्लेषकों के मुताबिक, खरीद प्रबंध सूचकांक (पीएमआई) के सकारात्मक आंकड़े आने और सूचना प्रौद्योगिकी शेयरों में खरीदारी से भी बाजार को तेजी मिली.

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से अल्ट्राटेक सीमेंट, टाटा स्टील, टीसीएस, टेक मंिहद्रा, विप्रो, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और लार्सन एंड टुब्रो ने लाभ दर्ज किया. वहीं, आईसीआईसीआई बैंक, मंिहद्रा एंड मंिहद्रा, पावरग्रिड और कोटक मंिहद्रा बैंक के शेयर नुकसान में रहे. बीएसई के स्मालकैप सूचकांक में 0.63 प्रतिशत और मिडकैप सूचकांक में 0.62 प्रतिशत की बढ़त रही.

एसएंडपी ग्लोबल इंडिया की तरफ से जारी पीएमआई आंकड़ों के मुताबिक नवंबर में यह सूचकांक 55.7 पर रहा जो अक्टूबर के 55.3 की तुलना में बढ़त को दर्शाता है. जियोजीत फाइनेंशियल र्सिवसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, “फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल का ब्याज दरों की वृद्धि की रफ्तार को नरम करने वाला बयान बाजार को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का सबब बन सकता है.”

हालांकि कोटक सिक्योरिटीज के इक्विटी शोध (खुदरा) प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, “बाजार ने तेजी का सिलसिला जारी रखा और नई ऊंचाई पर भी पहुंच गया लेकिन आज इसमें उछाल नहीं नजर आया. अब नजरें अगले हफ्ते की मौद्रिक नीति घोषणा पर रहेंगी.” एशिया के अन्य बाजारों में सोल, टोक्यो, शंघाई और हांगकांग सभी के प्रमुख सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए.

यूरोप के बाजारों में भी दोपहर के सत्र में काफी हद तक सकारात्मक दिशा देखी जा रही थी. अमेरिकी शेयर बाजार भी बुधवार को बढ़त के साथ बंद हुए थे. अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.40 प्रतिशत गिरावट के साथ 87.32 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था.
इस बीच, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने भारतीय बाजारों में निवेश का सिलसिला बरकरार रखा है. उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक एफआईआई ने बुधवार को 9,010.41 करोड़ रुपये की शुद्ध खरीदारी की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button