‘कुछ नहीं करने और धर्म के नाम पर वोट मांगने’ के लिए प्रियंका ने भाजपा पर हमला बोला

रायबरेली. कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने बुधवार को कहा कि पिछले दशक की राजनीति ”जवाबदेही की नहीं” थी. उन्होंने इसके साथ ही ”कुछ नहीं करने और धर्म के नाम पर वोट मांगने” के लिए भाजपा पर हमला बोला. प्रियंका ने कहा कि पिछले 10 साल में जो राजनीति हुई है, उसकी कोई जवाबदेही नहीं है, क्योंकि ये धर्म पर आधारित राजनीति है.

रायबरेली लोकसभा सीट से उम्मीदवार राहुल गांधी के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा कि भाजपा के नेताओं को अहसास हो गया है कि वे धर्म के नाम पर आपको धोखा देकर, भगवान के नाम पर आपसे भाजपा को वोट देने का वादा लेकर सत्ता में आ सकते हैं.

उन्होंने कहा, ”देश में जिस राजनीति का बोलबाला है, उसके नेता नरेन्द्र मोदी से लेकर यहां के उम्मीदवार तक सब सोचते हैं कि जनता के लिए काम करने की जरूरत नहीं है और वोट के वक्त धर्म के नाम पर ध्यान भटकाते हैं या लोगों को धमकाते हैं.” उन्होंने कहा, ”देश में दो तरह की राजनीति हो रही है. एक है सच्चाई, मतदाताओं के प्रति समर्पण और उनके लिए काम करने की इच्छाशक्ति और दूसरी है भाजपा की राजनीति जिसमें वे आपकी भावनाओं का इस्तेमाल करते हैं, वोट लेते हैं.”

उन्होंने आरोप लगाया कि रायबरेली में भाजपा उम्मीदवार वोट के लिए ग्राम प्रधानों को धमकी दे रहे हैं. रायबरेली में राहुल गांधी के खिलाफ भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह मैदान में हैं . चुनावी बॉन्ड के मुद्दे पर भाजपा पर निशाना साधते हुए प्रियंका ने कहा, ”वे हमें भ्रष्ट कहते हैं. लेकिन कांग्रेस पार्टी 55 साल सत्ता में रहने के बाद भी एक अमीर पार्टी नहीं बन सकी, लेकिन भाजपा 10 सालों के भीतर दुनिया की सबसे अमीर पार्टी बन गई है. कांग्रेस के ‘न्याय पत्र’ में किए गए वादों को याद करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि हमारी सरकार उन महिलाओं, किसानों और युवाओं के लिए काम करेगी जिन्हें भाजपा ने नजरअंदाज किया है. रायबरेली में लोकसभा चुनाव के पांचवें दौर में 20 मई को मतदान होगा.

Related Articles

Back to top button