एक के बाद एक कानूनी असफलताओं के बाद उमर ने कहा, कुछ हफ्ते ‘‘सार्वजिनक व्यस्तताओं से दूर रहूंगा

श्रीनगर: नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि वह दो बेहद निराशाजनक दिनों के बाद कुछ हफ्ते ‘‘सार्वजनिक व्यस्तताओं से दूर’’ रहना चाहेंगे। हालांकि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में दो चुनावों सहित चुनौतियों का सामना करने के लिए अगले साल की शुरुआत में लौटने का वादा किया।

‘एक्स’ पर एक लंबी पोस्ट में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने स्पष्ट रूप से उच्चतम न्यायालय द्वारा अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले को बरकरार रखने और दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा उन्हें अपनी पत्नी पायल अब्दुल्ला से तलाक देने से इनकार करने का जिक्र किया।

उन्होंने लिखा, ‘‘पिछले दो दिन व्यक्तिगत और पेशेवर रूप से बेहद निराशाजनक रहे हैं, लेकिन मैं हार मानने और पीछे हटने वाला नहीं हूं। यह साल का वो समय है जब मैं उन लोगों के साथ रहने, तरोताजा महसूस करने और मजबूत होकर वापस आने के लिए कुछ समय निकालता हूं, जिनकी मैं परवाह करता हूं। मैं कुछ हफ्तों के लिए सार्वजनिक व्यस्तताओं से दूर रहूंगा।’’

उन्होंने कहा कि वह अगले साल की शुरुआत में ‘‘फिट होकर’’ वापस आएंगे और 2024 की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘नए साल की शुरुआत में फिट होकर वापस आऊंगा और 2024 में मेरे सामने आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहूंगा, जिसमें जम्मू-कश्मीर में कम से कम दो चुनाव भी शामिल हैं। लड़ाई और संघर्ष जारी रहेगा।’’

अब्दुल्ला ने सोमवार को कहा था कि वह पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के केंद्र के पांच अगस्त, 2019 के फैसले को बरकरार रखने वाले उच्चतम न्यायालय के फैसले से निराश हैं लेकिन हताश नहीं हैं।

Related Articles

Back to top button