वंशवाद की राजनीति के खिलाफ लड़ रही है भाजपा : नड्डा

रायपुर. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को क्षेत्रीय दलों को ‘पारिवारिक पार्टी’ करार देते हुये उन पर निशाना साधा और कहा कि उनकी पार्टी अपनी विचारधारा को लेकर देश में वंशवाद की राजनीति के खिलाफ लड़ रही है.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पदभार संभालने के बाद कांग्रेस शासित राज्य के अपने पहले दौरे पर आए नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बूथ स्तर तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेशों को ले जाने और उनके नेतृत्व में किए जा रहे कार्यों से लोगों को अवगत कराने की अपील की. नड्डा ने कहा कि भाजपा एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसके पास लोगों की सेवा करने की विचारधारा है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी लड़ाई वंशवाद की राजनीति के खिलाफ है. जम्मू-कश्मीर से लेकर तमिलनाडु तक हम इसके खिलाफ लड़ रहे हैं. जम्मू-कश्मीर में लड़ाई नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी, पंजाब में सिरोमणी अकाली दल, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बिहार में राजद, ओडिशा में बीजद, पश्चिम बंगाल में टीएमसी जो ‘बुआ-भतीजे‘ ममता बनर्जी और अभिषेक की पार्टी है. इसी तरह आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी की पार्टी, तेलंगाना में टीआरएस और तमिलनाडु में एमके स्टालिन की पार्टी के खिलाफ लड़ाई है. ये सभी पार्टियां पारिवारिक पार्टियां हैं. परिवार की वजह से उद्धव ठाकरे की शिवसेना टूट गई.‘‘

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा अपनी वैचारिक पृष्ठभूमि के साथ वंशवाद की राजनीति के खिलाफ लड़ेगी. भाजपा के अलावा अब विचारधारा वाली कोई पार्टी नहीं है.‘‘ भारत जोड़ो यात्रा को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा, ‘जो लोग अपने घर को ठीक से रखने में विफल रहे हैं, उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा शुरू की है. भाजपा नेता ने कहा कि उन्हें उन लोगों को समझना होगा जो पिछले 50 सालों से उनसे जुड़े हुए थे, उन्होंने पार्टी क्यों छोड़ी .’’

नड्डा शुक्रवार से रायपुर के चार दिवसीय दौरे पर हैं. रायपुर पहुंचने के बाद विमानतल पर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नड्डा का स्वागत किया. बाद में उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय चौक तेलीबांधा से पार्टी के रायपुर जिला कार्यालय एकात्म परिसर तक रोड शो किया.

Back to top button