विश्व कप टीम में सिर्फ एक अश्वेत अफ्रीकी खिलाड़ी होने से सीएसए की आलोचना

जोहानिसबर्ग. टी20 विश्व कप टीम में कागिसो रबाडा के रूप में सिर्फ एक अश्वेत अफ्रीकी खिलाड़ी को शामिल करने के लिए क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) की आलोचना हो रही है. दक्षिण अफ्रीका की 15 सदस्यीय टीम में रबाडा सहित छह अश्वेत खिलाड़ी शामिल हैं. पर रबाडा एकमात्र अश्वेत अफ्रीकी हैं. अन्य अश्वेत खिलाड़ियों में रीजा हेंड्रिक्स, ब्योर्न फोरटुईन, केशव महाराज, तबरेज शम्सी और ओटिनिएल बार्टमैन मौजूद हैं.

सीएसए के बदलाव लाने के लक्ष्य के अंतर्गत एक सत्र के दौरान दक्षिण अफ्रीका की अंतिम एकादश में छह अश्वेत खिलाड़ियों का होना जरूरी है जिसमें से दो अश्वेत खिलाड़ी अफ्रीकी होने चाहिए. लेकिन टी20 विश्व कप के लिए चुनी टीम में रबाडा के रूप में केवल एक अफ्रीकी अश्वेत खिलाड़ी मौजूद हैं. सीएसए के अपने लक्ष्य को पूरा नहीं करने की वजह से उसकी आलोचना की जा रही है.

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खेल मंत्री फिकिले एमबालुला ने टीम के चयन पर सवाल उठाते हुए ‘एक्स’ पर लिखा, ”आगामी टी20 विश्व कप 2024 की टीम के लिए केवल एक अश्वेत अफ्रीकी खिलाड़ी को दक्षिण अफ्रीका की टीम में चुना गया है. निश्चित रूप से यह बदलाव लाने के लक्ष्य से उलट है और इसमें दक्षिण अफीकी लोगों का उचित प्रतिनिधित्व नहीं है. ” एसएबीसी स्पोर्ट पर सीएसए के और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के पूर्व अध्यक्ष रे माली ने कहा कि देश इस खेल में पिछड़ रहा है.

उन्होंने कहा, ”मेरा मानना है कि बहुत कुछ हासिल कर लिया गया है. लेकिन मेरा मानना है कि हम क्रिकेट के मामले में पिछड़ रहे हैं. हमने आगे बढ़ने के बजाय एक कदम पीछे ले लिया है. ” उन्होंने कहा, ”मैं यह समझ नहीं पा रहा हूं कि हम दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम में ज्यादा संख्या में अश्वेत खिलाड़ियों को क्यों नहीं रख सकते. यह स्वीकार्य नहीं है. ”

इस समय सीएसए की चयन समिति नहीं है और टीम का चयन मुख्य कोच शुक्री कोनराड (टेस्ट) और रॉब वाल्टर (सफेद गेंद का क्रिकेट) द्वारा किया जाता है. वाल्टर ने अमेरिका और वेस्टइंडीज में होने वाले आईसीसी टूर्नामेंट के लिए चुनी गयी टीम के चयन का बचाव करते हुए कहा कि घरेलू र्सिकट में चयन के लिए इतनी गहराई मौजूद नहीं है. लुंगी एनगिडी भी अश्वेत अफ्रीकी हैं जो रिजर्व के तौर पर टीम के साथ जायेंगे लेकिन वह मुख्य टीम का हिस्सा नहीं हैं.

Related Articles

Back to top button