बाबा साहेब आंबेडकर नहीं होते तो नेहरू एससी-एसटी को आरक्षण नहीं मिलने देते : प्रधानमंत्री मोदी

मोतिहारी/महाराजगंज. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर नहीं होते तो पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) को आरक्षण नहीं मिलने देते. प्रधानमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन भ्रष्टाचार, तुष्टीकरण की राजनीति और सनातन विरोधी सोच के साथ खड़ा है और चार जून को लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के साथ ही इन सभी को बड़ा झटका लगेगा.

बिहार के पूर्वी चंपारण और महाराजगंज संसदीय क्षेत्र में अलग-अलग चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए मोदी ने दावा किया, ”बाबा साहेब आंबेडकर ना होते तो नेहरू जी एससी-एसटी को आरक्षण नहीं मिलने देते. उन्होंने तो मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इसका विरोध किया था. नेहरू जी से लेकर राजीव गांधी तक इस परिवार के जितने प्रधानमंत्री हुए, सबने ओबीसी आरक्षण का विरोध किया.” उन्होंने कहा, ”कांग्रेस के पास एक ही वोट बैंक आज बचा है और वे उसे खुश करने के लिए एससी, एसटी और ओबीसी का आरक्षण धर्म के आधार पर आपसे छीनकर ”वोट जिहाद” वालों को देना चाहते हैं. संविधान इसकी इजाजत नहीं देता इसलिए ये संविधान बदलना चाहते हैं.”

उन्होंने कहा, ”राजग ने पहले दलित बेटे को और फिर हमारे देश की आदिवासी बेटी को संविधान के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद पर बिठाया. हमारी सरकार ही है, जिसने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया.” मोदी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव पर परोक्ष निशाना साधा और कहा, ”जो लोग चांदी का चम्मच लेकर पैदा होते हैं उन्हें पता नहीं होता मेहनत क्या होती है. मैंने सुना है कि यहां कोई घूम-घूम कर कह रहा है कि चार जून के बाद मोदी ‘बेड रेस्ट’ पर जाएंगे. मैं तो परमात्मा से प्रार्थना करता हूं, मैं तो यही कामना करता हूं कि मोदी तो क्या देश के किसी भी नागरिक के जीवन में ‘बेड रेस्ट’ की नौबत नहीं आनी चाहिए.”

प्रधानमंत्री ने कहा, ”आपने देखा होगा कांग्रेस वाले क्या कहते हैं, मोदी तेरी कब्र खुदेगी. उत्तर प्रदेश के शहजादे क्या कहते हैं, अब मोदी के आखिरी दिन बनारस में कटने हैं. इस चुनाव में इन लोगों के पास मोदी को गाली देने के सिवाय कोई मुद्दा नहीं.” मोदी ने कहा, ”चंपारण की यह धरती प्रेरणा की धरती है. अभी कल ही पहले पांच चरण का चुनाव पूरा हुआ है. पहले चरण में ‘इंडिया’ गठबंधन पस्त हो गया था. इसके बाद के चरणों में गठबंधन ‘ध्वस्त’ हुआ और अब कल जो पांचवा चरण हुआ है, इंडिया गठबंधन पूरी तरह ‘परास्त’ हो चुका है.”

मोदी ने आरोप लगाया, ”कांग्रेस और उसके साथियों ने मिलकर देश के 60 साल बर्बाद कर दिए. आजादी के 60-70 साल बाद जब आपने एक गरीब मां के बेटे को आपकी सेवा करने का अवसर दिया. जब मोदी आया तब घर-घर शौचालय पहुंचा. कांग्रेस और राजद जैसे उसके साथियों ने आपको सिर्फ और सिर्फ तरसा कर रखा. गरीब और गरीब होता रहा.” उन्होंने कहा कि आपको वोट सिर्फ सांसद चुनने के लिए नहीं है, आपका वोट एक मजबूत भारत के लिए मजबूत प्रधानमंत्री चुनने का भी है.

मोदी ने राजद-कांग्रेस गठबंधन पर बिहार को जबरन वसूली के लिए कुख्यात बनाने का भी आरोप लगाया, जहां से भारत के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ताल्लुक रखते थे. उन्होंने कांग्रेस पर पंजाब, तेलंगाना और तमिलनाडु जैसे राज्यों में बिहार के लोगों के खिलाफ अपने नेताओं और सहयोगियों द्वारा की गई विवादास्पद टिप्पणियों पर ”चुप रहने” का आरोप लगाया.

मोदी ने आरोप लगाया, ”कांग्रेस का ‘शाही परिवार’ टुकड़े-टुकड़े गैंग को पाल पोस रहा है. आपने कांग्रेस को यहां से साफ कर दिया इसलिए ये आपसे बदला ले रहे हैं. ये भारत को एक करने वाले भगवान राम का विरोध करते हैं. राम मंदिर बनने से राजद और कांग्रेस वाले दुखी हैं. जिस कांग्रेस-राजद की राजनीति भारत के टुकड़े-टुकड़े करने वाली है, उसको साफ करने की जिम्मेदारी महाराजगंज की भी है और सिवान की भी है.”

उन्होंने कहा, ”कांग्रेस, राजद और उसके साथियों ने हमेशा इस देश को पीछे ले जाने का खेल खेला है. यह खुद लाखों करोड़ के मालिक हो गए और जनता रोटी, कपड़ा, मकान के लिए जूझती है. ‘इंडिया’ गठबंधन का मंच राजनीतिक मंच नहीं, लाखों करोड़ों के घोटालेबाजों का सम्मेलन है. उनके मंच पर करीब 20 लाख करोड़ रुपये के घोटालेबाज एक साथ बैठते हैं.” मोदी ने आरोप लगाया, ”जब ‘इंडिया’ गठबंधन के नेता इकट्ठा होते हैं तो इनमें तीन बुराइयां एकदम साफ नजर आती हैं – पहला ये घोर ‘शत प्रतिशत’ सांप्रदायिक हैं. दूसरा ये घोर जातिवादी हैं और तीसरा ये लोग शतप्रतिशत परिवारवादी हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button