मैंने कुत्ते को खिलाने के लिए उसके मालिक को बिस्कुट दिया था: वायरल वीडियो पर राहुल गांधी की सफाई

गुमला. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि कुत्ते द्वारा मेरे हाथ से बिस्कुट नहीं खाने पर मैने यह (बिस्कुट) खिलाने के लिए उसके मालिक को दे दिया था. कांग्रेस नेता की यह सफाई उस वीडियो जिसमें वह एक बिस्कुट कुत्ते के खाने से इनकार करने के बाद उसे (बिस्कुट को) एक व्यक्ति को देते हुए दिख रहे हैं, के वायरल होने के बाद आई है. इस वीडियो के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया था कि गांधी इस तरह से अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ व्यवहार करते हैं.

इस बारे में पूछे जाने पर गांधी ने पत्रकारों से कहा, “कुत्ता घबराया हुआ था और कांप रहा था… जब मैंने उसे बिस्कुट दिया तो वह डर गया. फिर, मैंने (इसके) मालिक को बिस्कुट देते हुए कहा कि यह आपके हाथ से खाएगा. फिर, मालिक ने बिस्कुट दिया और कुत्ते ने खा लिया. इसमें क्या समस्या है?” उन्होंने कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि भाजपा क्यों कुत्ते के पीछे पड़ी है? पार्टी के प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने कहा कि यह वीडियो चार फरवरी को झारखंड के धनबाद जिले में ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान बनाया गया था.

कुत्ते के मालिक ने खुशी जताते हुए कहा, “कुत्ते ने राहुल गांधी के साथ तस्वीरें खिंचवाईं, उन्होंने उसे बिस्कुट भी दिये.” हालांकि, इस घटना से विवाद पैदा हो गया और असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने सोमवार रात को वीडियो पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ‘एक्स’ पर लिखा, “… न केवल राहुल गांधी बल्कि पूरा परिवार मुझे वह बिस्कुट नहीं खिला पाया. मुझे असमिया और भारतीय होने पर गर्व है. मैंने खाने से इनकार कर कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया.

शर्मा ने मुंबई भाजपा की आईटी व सोशल मीडिया प्रकोष्ठ की सह संयोजक पल्लवी सीटी की एक ‘एक्स’ पर साझा की गई एक पोस्ट के जवाब में यह बात कही. पल्लवी सीटी ने ‘एक्स’ पर साझा पोस्ट में कहा, “कितनी बेशर्मी है. पहले राहुल गांधी ने हिमंत विश्व शर्मा जी को अपने पालतू कुत्ते पिडी के साथ एक ही प्लेट से बिस्कुट खिलाए. फिर कांग्रेस के खरगेजी पार्टी कार्यकर्ताओं की तुलना कुत्तों से करते हैं और अब शहजादा एक कुत्ते के इनकार के बाद वह बिस्कुट पार्टी कार्यकर्ता को दे रहा है. अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं, समर्थकों और मतदाताओं के प्रति वह इसी तरह का सम्मान दिखाते हैं?”

Related Articles

Back to top button