ICC ने तीन भारतीयों सहित आठ लोगों पर भ्रष्ट गतिविधियों के आरोप लगाए

दुबई. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 2021 एमिरेट्स टी10 लीग के दौरान भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने के लिए आठ खिलाड़ियों, अधिकारियों और कुछ भारतीय टीम मालिकों पर विभिन्न आरोप लगाए हैं. दो भारतीय सह मालिक पराग संघवी और कृष्ण कुमार हैं. ये दोनों टीम पुणे डेविल्स के सह मालिक हैं और उस सत्र में इनके एक खिलाड़ी बांग्लादेश के पूर्व टेस्ट बल्लेबाज नासिर हुसैन पर भी लीग की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन के आरोप लगे हैं.

भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने वाला तीसरा भारतीय एक अंजान सा बल्लेबाजी कोच सन्नी ढिल्लों है. आईसीसी ने कहा, ”आरोप 2021 अबु धाबी टी10 क्रिकेट लीग और उस टूर्नामेंट में मैचों को भ्रष्ट करने के प्रयासों से संबंधित हैं – इन प्रयासों को बाधित किया गया था. आईसीसी को इस टूर्नामेंट के लिए ईसीबी ने नामित भ्रष्टाचार विरोधी अधिकारी (डीएसीओ) के रूप में नियुक्त किया गया था और इस प्रकार ईसीबी की ओर से ये आरोप जारी किए जा रहे हैं.” संघवी पर मैच के नतीजों और अन्य पहलुओं पर सट्टा लगाने तथा जांच एजेंसी के साथ सहयोग नहीं करने के आरोप लगे हैं.

कृष्ण कुमार पर डीएसीओ से चीजों को छिपाने के आरोप लगे हैं जबकि ढिल्लों पर मैच फिक्स करने का प्रयास करने के आरोप हैं.
बांग्लादेश के लिए 19 टेस्ट और 65 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले नासिर पर डीएसीओ को 750 डॉलर से अधिक के तोहफे की जानकारी का खुलासा नहीं करने का आरोप लगा है.

जिन अन्य लोगों को निलंबित किया गया है उनमें बल्लेबाजी कोच अजहर जैदी, यूएई के घरेलू खिलाड़ी रिजवान जावेद और सालिया समन और टीम मैनेजर शादाब अहमद शामिल हैं. तीन भारतीयों सहित छह लोगों को अस्थाई रूप से निलंबित किया गया है और इन सभी के पास आरोपों का जवाब देने के लिए मंगलवार से 19 दिन का समय होगा. टूर्नामेंट के आयोजकों ने बाद में एक विज्ञप्ति जारी कर इस मामले पर निराशा व्यक्त की और आगामी सत्र में अधिक सतर्क रवैया अपनाने का वादा किया.

उन्होंने कहा, ” ‘टी टेन स्पोर्ट्स मैनेजमेंट’ यूएई में आयोजित 2021 टी10 टूर्नामेंट के आठ प्रतिभागियों के खिलाफ लगाए गए आरोपों पर निराशा व्यक्त करता है. हम इस तरह के सभी आरोपों को गंभीरता से लेते हैं और किसी भी तरह के भ्रष्टाचार के लिए शून्य-सहिष्णुता की नीति रखते हैं.” इस मीडिया विज्ञप्ति में कहा गया, ”हम टी10 टूर्नामेंटों के अपने कैलेंडर पर आईसीसी के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे और क्रिकेट की अखंडता को सुनिश्चित करने के लिए अपने नियंत्रण में सब कुछ करेंगे.”

Related Articles

Back to top button