मराठा आरक्षण समर्थकों ने नगरपालिका भवन को आग लगायी; दो विधायकों के घर, कार्यालय को निशाना बनाया

मुंबई. महाराष्ट्र के बीड जिले के माजलगाव से राकांपा विधायक प्रकाश सोलंकी के आवास को आग के हवाले करने के शीघ्र बाद, मराठा आरक्षण कार्यकर्ताओं के एक समूह ने स्थानीय नगरपालिका परिषद भवन की पहली मंजिल को आग लगा दी और वहां तोड़फोड़ की. पुलिस ने यह जानकारी दी.

पुलिस ने बताया कि एक अन्य घटना में, डंडों से लैस मराठा आरक्षण समर्थकों ने छत्रपति संभाजीनगर जिले के गंगापुर में भाजपा विधायक प्रशांत बांब के कार्यालय में तोड़फोड़ की. दोनों घटनाओं में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विधायक सोलंकी के आवास को आग के हवाले करने के बाद, मराठा आरक्षण कार्यकर्ताओं का एक समूह माजलगाव नगरपालिका परिषद भवन गया, जो पारली रोड के पास स्थित है. उन्होंने वहां तोड़फोड़ की. यह घटना मुंबई से 400 किलोमीटर से अधिक दूरी पर स्थित माजलगाव में दोपहर करीब डेढ. बजे हुई.

इन लोगों ने डंडों और पत्थरों से भवन की खिड़कियों के कांच तोड़ डाले. अधिकारी ने बताया कि इसके बाद, उपद्रवी भवन की पहली मंजिल पर गए और उसे आग के हवाले कर दिया तथा वहां मौजूद फर्नीचर जला दिया. उन्होंने बताया कि दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे और आग बुझाई. उन्होंने कहा कि कोई हताहत नहीं हुआ है.

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने इलाके की सीसीटीवी फुटेज खंगालनी शुरू कर दी है, ताकि नगरपालिका परिषद भवन को आग के हवाले करने वालों की पहचान की जा सके. उन्होंने कहा कि घटना के सिलसिले में एक मामला दर्ज करने की प्रक्रिया भी जारी है.
पुलिस ने बताया कि छत्रपति संभाजीनगर जिले के गंगापुर में हुई दूसरी घटना के सिलसिले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है.

उसने बताया कि मराठा आरक्षण समर्थकों के एक समूह ने भाजपा विधायक बांब के कार्यालय के अंदर रखा फर्नीचर और कमरे की खिड़कियों के कांच तोड़ डाले, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई. हिंसा और आगजनी की ये घटनाएं ऐसे वक्त हुई हैं, जब आरक्षण कार्यकर्ता मनोज जरांगे जालना जिले के अंतरवाली सराटी गांव में 25 अक्टूबर से आमरण अनशन कर रहे हैं. वह मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन के दूसरे चरण के तहत अनशन पर बैठे हैं.

Related Articles

Back to top button