निकहत का दबदबे भरी जीत से एशियाड अभियान शुरु, प्रीति क्वार्टरफाइनल में

हांगझोउ. भारत की दो बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज निकहत जरीन ने रविवार को यहां महिला 50 किग्रा वर्ग में वियतनाम की थि ताम एनगुएन पर 5-0 की दबदबे भरी जीत से एशियाई खेलों के प्री क्वार्टरफाइनल में जबकि प्रीति पवार (54 किग्रा) ने क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया.

निकहत और दो बार की एशियाई चैम्पियन एनगुएन के बीच यह मुकाबला मार्च में विश्व चैम्पियनशिप फाइनल का दोहराव था जिसमें इस भारतीय मुक्केबाज ने सर्वसम्मत फैसले में जीत दर्ज कर प्री क्वार्टर में जगह बनायी. प्रीति ने भी दबदबा बनाते हुए जोर्डन की सिलिना अलहासनात को आरएससी से हराया. 50 किग्रा स्पर्धा में मौजूदा विश्व चैम्पियन होने के बावजूद निकहत उन चार मुक्केबाजों में से एक रही जिन्हें पहले दौर में बाई नहीं मिली है.

निकहत ने जीत के बाद कहा, ”मैंने इस मुकाबले को एकतरफा होने की उम्मीद नहीं की थी लेकिन मेरी योजना इसे ऐसा करने की थी. मेरी योजना पहले दो राउंड सर्वसम्मत फैसले में जीतने की थी ताकि मैं तीसरे राउंड में रिलैक्स रहूं.” ओलंपिक कोटा दाव पर लगा है तो इस पर निकहत ने कहा कि वह पहले पेरिस के लिए क्वालीफाई करने पर ध्यान लगा रही हैं. उन्होंने कहा, ”मैं पहले क्वालीफाई करने पर ध्यान लगाये हूं. फिर मैं फाइनल और स्वर्ण पदक के बारे में सोचूंगी. ” लाइटवेट वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चारों मुक्केबाजों को ओलंपिक कोटा मिलेगा.

निकहत ने शुरू से ही सटीक मुक्के जड़ अपनी प्रतिद्वंद्वी को हिलाकर रख दिया जिससे रैफरी को पहले ही राउंड में एनगुएन को 30 सेकेंड के अंदर दो बार ‘आठ काउंट’ देने पड़े. दूसरे राउंड में एनगुएन ने वापसी का प्रयास किया लेकिन निकहत ने मजबूत मुक्कों से करारा जवाब दिया और वियतनाम की मुक्केबाज को तीसरी बार ‘आठ काउंट’ मिले. तीसरे राउंड में भारतीय मुक्केबाज बेहतरीन मुक्कों से अगले दौर में पहुंच गयीं.

अब निकहत का सामना राउंड 16 में दक्षिण कोरिया की चोरोंग बाक से होगा जबकि प्रीति की भिड़ंत कजाखस्तान की मुक्केबाज और तीन बार की विश्व पदक विजेता झाइना शेकरबेकोवा से होगी. इससे पहले 19 साल की प्रतिभाशाली मुक्केबाज प्रीति ने जोर्डन की प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ आरएससी (रैफरी द्वारा मुकाबला रोकना) से जीत हासिल की.

इस साल के शुरु में विश्व चैम्पियनशिप के प्री क्वार्टरफाइनल तक पहुंचने वाली प्रीति ने हालांकि शुरुआत रक्षात्मक तरीके से की और फिर आक्रामक रूख अपनाया. उन्होंने दमदार मुक्के जड़कर आसानी से शुरूआती दो राउंड अपने नाम किये जिसके बाद रैफरी ने सिलिना को दूसरे और तीसरे राउंड में दो ‘स्टैंडिंग काउंट’ दिये और मुकाबला रोक दिया.

Related Articles

Back to top button