‘श्री महाकाल लोक’ गलियारे में हुए घोटाले से उज्जैन ही नहीं, मप्र भी कलंकित हुआ: कमलनाथ

उज्जैन. कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने भाजपा नीत प्रदेश सरकार पर उज्जैन स्थित प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में ‘श्री महाकाल लोक’ गलियारे के निर्माण में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि इस घोटाले से उज्जैन ही नहीं, बल्कि समूचा राज्य पूरे देश में कलंकित हुआ है.

उल्लेखनीय है कि ‘श्री महाकाल लोक’ गलियारे की छह प्रतिमाएं इस साल 28 मई की दोपहर आयी तेज आंधी के चलते गिरकर टूट गई थीं. ये टूटी प्रतिमाएं वहां स्थापित सप्त ऋषियों में से छह की हैं जो करीब 11 फुट ऊंची थीं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल 11 अक्टूबर को 900 मीटर लंबे ‘श्री महाकाल लोक’ गलियारे के पहले चरण का लोकार्पण किया था. कुल 856 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना के पहले चरण में ‘श्री महाकाल लोक’ को 351 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है. देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन में स्थित है. यहां देश विदेश से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं.

कमलनाथ ने उज्जैन जिले के महिदपुर में आयोजित पार्टी की जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ”हाल ही में ‘श्री महाकाल लोक’ गलियारे के निर्माण में इतना बड़ा घोटाला हुआ. इससे उज्जैन ही नहीं, बल्कि मध्य प्रदेश भी पूरे देश में कलंकित हुआ है.” उन्होंने कहा, ”धर्म के नाम का सहारा लेकर राजनीति करने वाली भाजपा ने आज धर्म को भी भ्रष्टाचार का माध्यम बना दिया है. प्रदेश को भ्रष्टाचार प्रदेश बना दिया.”

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की 18 वर्षों की सरकार में 22,000 घोषणाएं अधूरी हैं. उन्होंने कहा, ”मध्य प्रदेश देश में भ्रष्टाचार में नंबर वन, महिला अत्याचार में नंबर वन, बेरोजगारी में नंबर वन, अनसूचतित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग पर अत्याचार में नंबर वन, किसानों पर अत्याचार में नंबर वन है. इसलिए मध्य प्रदेश की जनता अब चौहान को कुर्सी से उतारकर विदा करने के लिए तैयार बैठी है.” प्रदेश कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ”भाजपा याद रखे कि कमलनाथ की चक्की धीरे पीसती है, पर बारीक पीसती है.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button