कोई जादूगर ही ऐसा कर सकता है: अमित शाह का गहलोत पर कटाक्ष

राजस्थान में सांप्रदायिक दंगों के लिए कांग्रेस की तुष्टिकरण की नीति जिम्मेदार: शाह

जयपुर. केंद्रीय गृह मंत्री और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि राजस्थान में मौजूदा अशोक गहलोत सरकार के कार्यकाल में राज्य में कानून-व्यवस्था, बिजली और पिछली भाजपा सरकार द्वारा शुरू की गई स्वास्थ्य सुविधाएं “गुम” हो गईं. इसको लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा,”यह तो कोई जादूगर ही कर सकता है.” शाह ने मंगलवार को कुचामन, मकराना एवं परबतसर में जनसभाओं को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार “सबसे भ्रष्ट” है और वह “तुष्टिकरण की सभी सीमाएं” लांघ चुकी है.

उन्होंने कांग्रेस पर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का अपमान करने का आरोप लगाया और लोगों से राज्य की कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता सोनिया गांधी का लक्ष्य अपने बेटे राहुल गांधी को देश का प्रधानमंत्री बनाना है जबकि राजस्थान में अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव गहलोत को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं.

पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने कहा,”लेकिन वे अपने बेटों को “लॉंच” करने में असमर्थ हैं, जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने ‘चंद्रयान’ लॉन्च किया और चंद्रमा पर तिरंगा फहराया.” उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ओबीसी का अपमान किया और राहुल गांधी ने मोदी की जाति को ‘चोर’ कहा.

शाह ने कहा,”मोदी सरकार में 27 प्रतिशत मंत्री ओबीसी से हैं. हमारे 303 सांसदों में से 29 प्रतिशत (84) ओबीसी से हैं. इसी तरह, हमारे 1,358 विधायकों में से 27 फीसदी ओबीसी से हैं और 163 एमएलसी में से 40 फीसदी पिछड़े वर्ग से हैं.’ भाजपा नेता ने आरोप लगाया, ”राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री की जाति को चोर कहा . कांग्रेस पार्टी ने अपने ही नेताओं का अपमान करने का काम, पिछड़ा वर्ग के नेताओं का अपमान करने का काम किया है.” उन्होंने उदयपुर के दर्जी कन्हैयालाल हत्याकांड, विभिन्न सांप्रदायिक घटनाओं, अवैध खनन और भर्ती परीक्षा के पेपर लीक होने की घटनाओं के हवाले से राज्य की गहलोत सरकार पर निशाना साधा.

शाह ने कहा,”अशोक गहलोत जी को कांग्रेस के उनके प्रशंसक जादूगर कहते हैं .. जादूगर तो वह हैं ही. कोई मुख्यमंत्री ऐसा जादू नहीं कर सकता. उन्होंने जादू कर राजस्थान में बिजली गुम कर दी, जो स्वास्थ्य सुविधाएं पिछली वसंधुरा राजे सरकार में बहुत आगे बढ़ी थीं, उसे उन्होंने गुम कर दिया, रोजगार और कानून-व्यवस्था भी उन्होंने गुम कर दी… इतनी सारी चीजें तो केवल जादूगर ही गुम कर सकता है. और कोई नहीं कर सकता.” कथित ‘लाल डायरी’ प्रकरण को लेकर गहलोत पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा,”लाल रंग देखकर गहलोत जी भड़क जाते हैं. कुछ भी लाल हो, गहलोत जी को उसमें लाल डायरी ही नजर आती है, और कुछ नजर नहीं आता.” बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा का आरोप है कि इस डायरी में मुख्यमंत्री के अवैध वित्तीय लेनदेन का विवरण है.

शाह ने कांग्रेस पर 70 साल तक अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को रोकने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा,”550 साल से ज्यादा समय से प्रभु श्री राम अपमानित अवस्था में थे. 70 साल से से कांग्रेस पार्टी राम मंदिर को लटका रही थी, अटका रही थी, भटका रही थी . (प्रधानमंत्री नरेन्द्र) मोदी जी ने इसका भूमि पूजन किया और 22 जनवरी 2024 को इसकी प्राण प्रतिष्ठा भी मोदी जी करने वाले हैं.”

उन्होंने उपस्थित लोगों से कहा,”चुनाव के बाद आप अयोध्या का टिकट करवा लीजिए, क्योंकि रामलला भव्य मंदिर में विराजने वाले हैं.” शाह ने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी न देश को सुरक्षित रख सकती है, न देश को समृद्ध कर सकती है और न ही देश को दुनिया में गौरव दिला सकती है. उन्होंने कहा कि मोदी जी ने नई संसद बनाई, कर्तव्य पथ बनाया.. भारत के तिरंगे को चंद्रमा पर ले जाने का काम उन्होंने किया .

भाजपा नेता ने कहा कि गहलोत सरकार ने रामनवमी और महावीर जयंती के जुलूस पर प्रतिबंध लगाने का काम किया लेकिन कोटा में पीएफआई को रैली निकालने की अनुमति दे दी. उन्होंने कहा कि यह मोदी सरकार ही थी जिसने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर प्रतिबंध लगाया और उसके सदस्यों को जेल में डाला.

अवैध खनन को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा,” अवैध खनन इस सीमा तक बढ़ा कि एक संत ने आत्मदाह कर भूमि की रक्षा के लिए जान दे दी. फिर भी गहलोत की आंखें नहीं खुलीं.” उन्होंने राज्य की जनता को आश्वासन दिया कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर ढाई साल में सभी घरों में नल का जल उपलब्ध करा दिया जाएगा.

शाह ने यह भी कहा कि 2004 से 2014 तक पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने राजस्थान को दो लाख करोड़ रुपये दिए, जबकि मोदी सरकार ने 2014 से 2023 तक 8.71 लाख करोड़ रुपये दिए और नौ वर्षों में छह लाख करोड़ रुपये की परियोजनाएं यहां जमीन पर उतारीं.
उन्होंने लोगों से इस साल विधानसभा चुनाव और अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवारों को वोट देने का आह्वान किया.
उन्होंने कहा कि इस बार तीन दिवाली होंगी, पहली दिवाली के दिन, दूसरी जब तीन दिसंबर को वोटों की गिनती के दिन भाजपा को जनादेश मिलेगा और तीसरी 22 जनवरी को जब अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा होगी. इन रैलियों में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सी पी जोशी, अन्य नेता और विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से पार्टी उम्मीदवार भी मौजूद थे.

राजस्थान में सांप्रदायिक दंगों के लिए कांग्रेस की तुष्टिकरण की नीति जिम्मेदार: शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार की तुष्टिकरण की नीति के कारण दंगे हुए और इस पार्टी में दोषियों को सजा देने की भी हिम्मत नहीं है. वह नागौर के परबतसर में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे. शाह ने कांग्रेस पर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लोगों का अपमान करने का भी आरोप लगाया और दावा किया कि वह राज्य के लोगों का कोई भला नहीं कर सकती.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता सोनिया गांधी का लक्ष्य अपने बेटे राहुल गांधी को देश का प्रधानमंत्री बनाना है जबकि राजस्थान में अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव गहलोत को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं. उन्होंने कहा,” लेकिन वे अपने बेटों को “लॉंच” करने में असमर्थ हैं, जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत ने ‘चंद्रयान’ लॉन्च किया और चंद्रमा पर तिरंगा फहराया.” उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ओबीसी का अपमान किया और राहुल गांधी ने मोदी की जाति को ‘चोर’ कहा.

शाह ने कहा,”मोदी सरकार में 27 प्रतिशत मंत्री ओबीसी से हैं. हमारे 303 सांसदों में से 29 प्रतिशत (84) ओबीसी से हैं. इसी तरह, हमारे 1,358 विधायकों में से 27 फीसदी ओबीसी से हैं और 163 एमएलसी में से 40 फीसदी पिछड़े वर्ग से हैं.” भाजपा नेता ने आरोप लगाया, ”राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री जी की जाति को चोर कहा. अपने ही नेताओं का अपमान करने का काम, पिछड़ा वर्ग के नेताओं का अपमान करने का काम कांग्रेस पार्टी ने किया है.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button