प्रधानमंत्री मोदी का युवाओं से परिवारवादी पार्टियों को हराने का आह्वान, घोषणापत्र के लिए मांगे सुझाव

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को पूर्ण बहुमत के साथ स्थिर सरकार चुनने की वकालत की और युवा मतदाताओं से लोकसभा चुनाव में परिवारवादी पार्टियों को हराने का आह्वान करते हुए कहा कि उनके वोट ही भारत की दशा व दिशा तय करेंगे.
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की युवा इकाई भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की ओर से आयोजित ‘नमो नवमतदाता सम्मेलन’ को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि परिवारवादी पार्टियों की सरकारों के कार्यकाल में भारत के युवाओं का भविष्य ‘अंधकारमय’ बना दिया गया था जबकि मौजूदा केंद्र सरकार उन्हें उस स्थिति से बाहर निकाल कर लायी.

उन्होंने कहा कि उस समय की युवा पीढ.ी ने अपने भविष्य की संभावनाओं को लेकर सरकार से किसी प्रकार की उम्मीद ही छोड़ दी थी. मोदी ने युवाओं से आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा के घोषणापत्र के लिए सुझाव देने का आग्रह किया और कहा कि श्रेष्ठ सुझाव साझा करने वाले चुनिंदा लोगों से वह व्यक्तिगत रूप से मिलेंगे.

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों का नाम लिए बिना उनका गंभीर मूल्यांकन प्रस्तुत किया और 2014 में सत्ता में आने के बाद उनकी सरकार द्वारा लाए गए बदलावों को सामने रखा. उन्होंने कहा कि तब भ्रष्टाचार और घोटाले सुर्खियां बनते थे लेकिन इन दिनों विभिन्न क्षेत्रों में विश्वसनीयता और सफलता की कहानियों के बारे में बात की जाती है.

उन्होंने कहा, ”यह मोदी की गारंटी है. आपके सपने मेरा संकल्प हैं.” उन्होंने कहा कि युवा हमेशा उनकी प्राथमिकता रहे हैं और ‘डिजिटल इंडिया’, ‘स्टार्ट-अप इंडिया’ जैसी कई विकास योजनाओं और विभिन्न क्षेत्रों में सुधारों के अलावा बुनियादी ढांचे में भारी निवेश ने उनके लिए असीमित अवसर पैदा किए हैं.

उन्होंने युवाओं को पूर्ण बहुमत वाली स्थिर सरकार होने के फायदे गिनाते हुए कहा कि इससे अनुच्छेद 370 को निरस्त करने व अयोध्या में रामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा का इंतजार खत्म होता है और वैश्विक स्तर पर भारत की साख भी बढ.ती है.
प्रधानमंत्री ने युवाओं से कहा कि उनकी सरकार उनके सपनों को पूरा करने और उनकी क्षमताओं को बढ.ाने के लिए दिन-रात काम कर रही है. उन्होंने कहा कि पहली बार मतदान करने वाले मतदाता भाजपा के विकास के एजेंडे का समर्थन करते हैं.

मोदी ने कहा, ”मुझे खुशी है कि आज भारत का नौजवान देश के समक्ष मौजूद चुनौतियों को समझ रहा है. इसलिए वह भ्रष्टाचार के खिलाफ है. वह परिवारवाद के खिलाफ है.” उन्होंने कहा कि परिवारवाद ऐसी बीमारी है जो देश के युवाओं को आगे बढ.ने से रोकती है. उन्होंने कहा, ”आपने देखा है परिवारवादी पार्टियों में दूसरे युवा कभी आगे नहीं बढ. पाते. परिवारवादी पार्टियों के नेताओं की सोच युवा विरोधी होती है. इसलिए आपको अपने वोट की ताकत से ऐसी परिवारवादी पार्टियों को हराना है.”

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब पूर्ण बहुमत वाली स्थिर सरकार होती है तो देश बड़े फैसले लेता है और दशकों से लटकी हुई समस्याओं को सुलझाकर आगे बढ.ता है. उन्होंने कहा, ”हमारी सरकार ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाकर दशकों का इंतजार खत्म किया. हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार ने सेना के जवानों के लिए वन रैंक, वन पेंशन लागू कर देश के पूर्व फौजियों का चार दशक का इंतजार समाप्त किया. यह हमारी सरकार है जिसे अयोध्या में रामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा का साक्षी होने का अवसर मिला. जब पूर्ण बहुमत की सरकार होती है तो नीति और निर्णयों में भी स्पष्टता होती है.”

मोदी ने कहा कि इसका असर वैश्विक स्तर पर भारत की साख पर भी होता है. उन्होंने कहा, ”आज दुनिया में भारत की साख नयी ऊंचाई पर है.” संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के कार्यकाल का उल्लेख करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि उसने देश के युवाओं का भविष्य अंधकारमय बना दिया था.

उन्होंने कहा, ”10-12 साल पहले भारत में जिस तरह की परिस्थिति थी, उसने देश के युवाओं का भविष्य अंधकारमय बना दिया था. आज देश में रोजगार के अवसर लगातार बढ. रहे हैं…आज स्थितियां बदली हैं. आज हर दिन एक नई खबर आती है कि आज इस क्षेत्र में भारत ने नया मुकाम हासिल किया. साल 2014 से पहले की पीढ.ी ने तो इसकी उम्मीद भी छोड़ दी थी.” प्रधानमंत्री ने युवाओं से कहा कि उस समय के अखबारों में आए दिन भ्रष्टाचार की खबरें सुर्खियां बनती थीं और हजारों करोड़ रुपये के घोटाले तो सामान्य सी बात थी.

उन्होंने कहा, ”उस समय आए दिन देश के नौजवान सड़कों पर तत्कालीन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते थे. मुझे संतोष है कि हम उस अंधकारमय स्थिति को दूर कर पाए हैं.” उन्होंने कहा कि उन दिनों भारत दुनिया की पांच सबसे नाजुक अर्थव्यवस्थाओं में शामिल था और दुनिया सोचती थी कि भारत खुद भी डूबेगा और हमें भी ले डूबेगा.

मोदी ने कहा, ”आज भारत दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और दुनिया सोचती है कि भारत के विकास से उसका भी विकास होगा. आने वाले कुछ ही वर्षों में भारत दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शुमार हो जाएगा और भारत की अर्थव्यवस्था सात हजार अरब को पार कर जाएगी.” प्रधानमंत्री ने कहा कि इसका लाभ भारत के युवाओं को ही होगा क्योंकि उनके लिए नए-नए क्षेत्रों में रोजगार के बहुत सारे नए मौके आएंगे.

उन्होंने कहा कि आज जब देश वर्ष 2047 तक विकसित भारत बनने के लक्ष्य पर काम कर रहा है तो युवा मतदाताओं का वोट तय करेगा कि भारत की दिशा क्या होगी. उन्होंने कहा कि 18 से 25 वर्ष की आयु ऐसी होती है जब किसी का भी जीवन बहुत से बदलावों का साक्षी बनता है और इन्हीं बदलावों के बीच नवमतदाता वर्ग को एक और जिम्मेदारी साथ-साथ निभानी है. भाजयुमो ने दावा किया कि इस कार्यक्रम में आगामी लोकसभा चुनाव में पहली बार मतदान के पात्र 40 लाख से अधिक युवाओं ने देशभर के 5,800 स्थानों से भाग लिया.

Related Articles

Back to top button