पोशाक मसले के कारण एशियाई निशानेबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक से चूकी जूनियर भारतीय टीम

नयी दिल्ली. भारतीय जूनियर पुरुष 10 मीटर एयर राइफल टीम एक निशानेबाज धनुष श्रीकांत को पोशाक की मोटाई के कारण प्रतियोगिता से अयोग्य घोषित किए जाने के कारण कोरिया के चांगवोन में चल रही एशियाई निशानेबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक और जूनियर रिकॉर्ड बनाने से चूक गई.

उमामहेश मद्दिनेनी, धनुष और अभिनव साव की भारतीय टीम ने 628.5, 627.9 और 625.6 का स्कोर कर कुल 1882 अंक हासिल किए जिससे उसका स्वर्ण पदक जीतना और एशियाई जूनियर रिकॉर्ड बनाना तय था, लेकिन एक निशानेबाज को अयोग्य घोषित किए जाने के कारण भारत को पदक से वंचित होना पड़ा. धनुष प्रतियोगिता में जो पैंट पहन रहा था उसकी मोटाई 2.9 थी जबकि अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) के नियमों के अनुसार यह 3.0 से कम नहीं होनी चाहिए.

निशानेबाजी में 10 मीटर एयर राइफल और 50 मीटर राइफल 3 पोजीशन में मोटी जैकेट और पैंट पहनना अनिवार्य होता है.
भारत के तीनों निशानेबाज ने आठ खिलाड़ियों के फाइनल में जगह बनाई थी लेकिन धनुष को अयोग्य घोषित कर दिया गया और उनका क्वालिफिकेशन स्कोर हटा दिया गया. धनुष ने क्वालीफिकेशन में 627.9 स्कोर बनाया था और वह तीसरे स्थान पर रहे थे. उनके अयोग्य घोषित किए जाने से पहले नौवें नंबर पर रहे एक अन्य भारतीय प्रथम बडाना को फाइनल में जगह मिल गई.

भारतीय टीम के साथ गए राइफल कोच दीपक दुबे ने कहा,”यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हम एशियाई जूनियर रिकॉर्ड के साथ टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने से चूक गए. रेंज पर उपस्थित जूरी ने क्वालिफिकेशन के बाद पैंट का निरीक्षण किया और धनुष की पैंट को आईएसएसएफ के नियमों के तहत नहीं पाया.”

Related Articles

Back to top button