अदालत में पेश हुए ट्रंप, गोपनीय दस्तावेज अवैध तरीके से रखने का जुर्म नहीं कबूला

मियामी. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उस जुर्म को मानने से इनकार किया कि उन्होंने फ्लोरिडा के अपने आवास में गोपनीय दस्तावेज रख कर बीसियों बार कानून का उल्लंघन किया है. ट्रंप मंगलवार को मियामी की अदालत में पेश हुए और वह संघीय आपराधिक आरोपों का सामना करने वाले देश के पहले पूर्व राष्ट्रपति हैं.

नेवी सूट और लाल रंग की टाई पहने ट्रंप फ्लोरिडा के मियामी की अदालत में सुनवाई शुरू होने से 15 मिनट पहले पहुंचे और बहुत संभलते हुए अपनी कुर्सी पर बैठे. तब तक न्यायाधीश अदालत कक्ष में नहीं पहुंचे थे. ट्रंप के बेटे एरिक ट्रंप अदालत में अपने पिता के साथ थे. यह एक ऐसा ऐतिहासिक मामला है जो 2024 के लिए व्हाइट हाउस की दौड़ के परिप्रेक्ष्य में देश के राजनीतिक तथा कानूनी परिदृश्य को बदल सकता है.

एबीसी न्यूज की एक खबर के अनुसार ट्रंप सुनवाई के दौरान जमीन की ओर देखते रहे. संघीय अभियोजकों ने ट्रंप पर अपने कार्यकाल के दौरान गोपनीय दस्तावेज हासिल करने और उन्हें अपने पास रखने के आरोप लगाए. पूर्व राष्ट्रपति पर 37संघीय आरोप लगाए गए हैं जिनमें से 31जासूसी अधिनियम के उल्लंघन से जुड़े हैं.

ट्रंप के वकील टॉड ब्लांचे ने अभियोग के दौरान खचाखच भरे अदालत कक्ष में कहा,” हम जुर्म नहीं कबूलने संबंधी याचिका दाखिल कर रहे हैं.” अधिवक्ता ब्लांचे और क्रिस्टोफर किसे के साथ पूर्व राष्ट्रपति अदालत की कार्रवाई धीरज के साथ देखते रहे. मजिस्ट्रेट जज जोनाथन गुडमैन ने ट्रंप से इस मामले में किसी भी गवाह से बात न करने को कहा, जिनमें वाल्ट नाउटा भी शामिल हैं. ट्रंप ने इसके बाद अपने वकीलों से बात की.

अधिवक्ता ने न्यायाधीश के इस प्रस्ताव पर आपत्ति जताई और कहा कि नाउटा और कई गवाह ट्रंप के कर्मचारी हैं अथवा सुरक्षाकर्मी हैं. नाउटा ट्रंप के करीबी हैं और उन्हें पूर्व राष्ट्रपति के निर्देश पर दस्तावेजों से भरे बक्सों को हटाने और संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) को गुमराह करने के लिए पिछले सप्ताह ही अभ्यारोपित किया गया है.

सुनवाई के दौरान गुडमैन ने ट्रंप को लगातार ”पूर्व राष्ट्रपति” कहा वहीं उनके अधिवक्ता उन्हें ”राष्ट्रपति ट्रंप ” संबोधित करते रहे.’ पैंतालिस मिनट की अदालती सुनवाई के दौरान इस बात पर कोई चर्चा नहीं हुई कि ट्रंप को अगली बार अदालत में कब और कहां पेश होना होगा.

ट्रंप को गोपनीय दस्तावेज रखने संबंधी मामले में अभ्यारोपित किया गया है. यह मामला फ्लोरिडा स्थित ट्रंप के आवास मार-ए-लागो से सैकड़ों गोपनीय दस्तावेज बरामद होने से जुड़ा है. इस मामले में दोषी करार दिए जाने की सूरत में ट्रंप को कई साल की जेल की सजा का सामना करना पड़ सकता है. जुर्म नहीं कुबूलने संबंधी याचिका दाखिल करने के बाद ट्रंप मंगलवार रात को न्यूजर्सी गोल्फ क्लब पहुंचे जहां उनका भव्य स्वागत हुआ.

ट्रंप ने वहां मौजूद लोगों को करीब आधे घंटे तक संबोधित किया और कहा, ” उन्हें यह मामला तत्काल बंद करना चाहिए क्योंकि वे देश के बर्बाद कर रहे हैं.” उन्होंने कहा, ” हिलेरी क्लिंटन ने कानून तोड़ा और उनके खिलाफ अभियोग नहीं लगा. जो बाइडन ने कई अन्य तरीकों से कानून तोड़ा लेकिन उन पर भी अभियोग नहीं लगा. मैंने सब सही किया फिर भी उन्होंने मेरे खिलाफ अभियोग लगाया.
ट्रंप ने कहा,” कई लोगों ने मुझसे पूछा कि मेरे पास ये बक्से क्यों हैं, अपको वह क्यों चाहिए? इसका उत्तर यह है कि प्रेसिडेंशियल रिकॉर्ड्स एक्ट के तहत हर अधिकार होने के अलावा इन बक्सों में व्यक्तिगत सामान था- कई, कई चीजें- शर्ट ,जूते और सब कुछ ….” उन्होंने कहा, ” मुझे इन्हें देखने का मौका ही नहीं मिला क्योंकि इसके लिए काफी वक्त चाहिए.”

मामले की सुनवाई एक बार फिर राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ने की ट्रंप की इच्छा के आड़े भी आ सकती है. इससे न सिर्फ उनके राजनीतिक भविष्य पर, बल्कि उनकी व्यक्तिगत आजादी पर भी असर पड़ सकता है. सीएनएन ने अपनी एक खबर में कहा कि मंगलवार की सुनवाई मजिस्ट्रेट न्यायाधीश गुडमैन ने की लेकिन अब यह मामला जिला न्यायाधीश एलीन कैनन की अदालत में जाएगा. कैनन को ट्रंप ने नियुक्त किया था और पूर्व के उनके फैसलों को देखते हुए ये प्रश्न उठने लगे हैं कि वे इस मामले को कैसे देखेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button