ऑस्ट्रेलिया के दो विश्वविद्यालय गुजरात की गिफ्ट सिटी में परिसर स्थापित करेंगे: प्रधान

नयी दिल्ली. केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को घोषणा की कि ऑस्ट्रेलिया के दो विश्वविद्यालय गुजरात की ‘गिफ्ट सिटी’ में अपने परिसर स्थापित करेंगे. ये विश्वविद्यालय वोलोनगोंग और डीकिन विश्वविद्यालय हैं जो अगले सप्ताह ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीज की पहली भारत यात्रा के दौरान अपने परिसर स्थापित करने से संबंधित समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे.

प्रधान ने दिल्ली विश्वविद्यालय के वेंकटेश्वर कॉलेज में आयोजित समारोह में यह घोषणा की. समारोह में ऑस्ट्रेलिया के शिक्षा मंत्री जैसन क्लेयर भी शामिल हुए जो चार दिन की भारत यात्रा पर हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया के दो विश्वविद्यालय गुजरात में गिफ्ट सिटी में अपने परिसर स्थापित करेंगे. हम युवाओं के लिए शिक्षा की सुगम्यता, वहनीयता और गुणवत्ता के साथ ऑस्ट्रेलिया से साझेदारी करना चाहते हैं.’’ ये दोनों विश्वविद्यालय गिफ्ट (गुजरात इंटरनेशनल फिन टेक) सिटी में अपने परिसर खोलने वाले पहले विदेशी संस्थान हैं.

ऑस्ट्रेलियाई मंत्री ने यह घोषणा भी की कि वोलोनगोंग विश्वविद्यालय के वैश्विक ब्रांड अंबेसेडर और पूर्व क्रिकेटर एडम गिलक्रिस्ट भारत में विश्वविद्यालय स्थापित करने में सहयोग करेंगे. प्रधान ने इस अवसर पर दोनों देशों के संबंधों के बारे में बात करते हुए कहा कि दोनों कुछ समान चीजें साझा करते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘भारत और ऑस्ट्रेलिया के आकार अलग-अलग होने के बाद भी उनकी रणनीतिक रूपरेखा, आकांक्षाएं समान हैं. मैं पिछले 50 साल से ऑस्ट्रेलिया के विकास को करीब से देख रहा हूं.’’ केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया की एक प्रमुख रणनीति शैक्षणिक ज्ञान और कौशल विकास तथा व्यावसायिक प्रशिक्षण है. युवा देश होने के नाते भारत इस दिशा में ऑस्ट्रेलिया के साथ साझेदारी करना चाहता है.’’ डीकिन विश्वविद्यालय को क्यूएस वर्ल्ड यूनिर्विसटी रैंंिकग में 266वां स्थान प्राप्त है. भारत के अनेक विद्यार्थी इसमें पढ़ाई के लिए जाते हैं.

वोलोनगोंग विश्वविद्यालय संयुक्त अरब अमीरात में परिसर शुरू करने वाला पहला विदेशी संस्थान है. गिफ्ट सिटी भारत में अपनी तरह का पहला उभरता हुआ वैश्विक वित्तीय और सूचना प्रौद्योगिकी सेवा केंद्र है.

Related Articles

Back to top button