चीन के रेस्तरां में भीषण विस्फोट से 31 लोगों की मौत, मालिक सहित नौ लोग हिरासत में

बीजिंग/यिनचुआन. उत्तर-पश्चिमी चीन में ‘ड्रागो बोट फेस्टिवल’ की पूर्व संध्या पर एक रेस्तरां में रसोई गैस में हुए भीषण विस्फोट से 31 लोगों की मौत हो गई और सात अन्य घायल हो गए. चीन के आधिकारिक मीडिया ने बृहस्पतिवार को इस बारे में खबर दी. सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ के मुताबिक, यिनचुआन प्रांत के शिनजियांग जिले में एक व्यस्त मार्ग पर स्थित ‘बारबेक्यू’ रेस्तरां में तरल पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) वितरण प्रणाली से रिसाव होने के कारण रसोई गैस में बुधवार को रात करीब आठ बजकर 40 मिनट पर विस्फोट हुआ. एजेंसी के अनुसार, विस्फोट के संबंध में रेस्तरां मालिक सहित नौ लोगों को हिरासत में लिया गया है.

सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) की ‘निंग्जिया हुई स्वायत्त क्षेत्रीय समिति’ ने कहा कि विस्फोट में कुल 38 लोग हताहत हुए, जिनमें से 31 को मृत घोषित कर दिया गया और सात का उपचार किया जा रहा है. एक घायल की स्थिति गंभीर बताई जा रही है.

यह विस्फोट ड्रैगन बोट फेस्टिवल की पूर्व संध्या पर हुआ. दो दिन की छुट्टियों के मद्देनजर बड़ी संख्या में ग्राहक रेस्तरां और उसके आसपास की दुकानों व होटलों में उमड़े थे. विस्फोट में आसपास की इमारतों को भी भारी नुकसान हुआ है. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने बृहस्पतिवार को यिनचुआन के ‘बारबेक्यू’ रेस्तरां में हुए विस्फोट में घायल लोगों को समुचित इलाज और हरसंभव मदद प्रदान करने के निर्देश दिए.

‘शिन्हुआ’ के मुताबिक, विस्फोट के संबंध में पुलिस ने नौ लोगों को हिरासत में लिया है, जिनमें रेस्तरां का मलिक, शेयरधारक और कर्मचारी शामिल हैं. एजेंसी के अनुसार, क्षेत्रीय प्रशासन ने इन लोगों की संपत्ति कुर्क की है. यिनचुआन के स्थानीय प्रशासन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर बताया कि यह विस्फोट उस समय हुआ, जब शेफ गैस टैंक से गैस रिसाव की शिकायत मिलने के बाद उसका ‘वॉल्व’ बदल रहे थे.

‘शिन्हुआ’ के मुताबिक, रेस्तरां के आसपास के इलाकों में रहने वाले 64 परिवारों को सुरक्षित जगहों पर स्थानांतरित कर दिया गया है.
स्थानीय मीडिया में प्रकाशित खबरों के अनुसार, ‘बारबेक्यू’ रेस्तरां एक लोकप्रिय रेस्तरां शृंखला का हिस्सा था और दो मंजिल में संचालित किया जा रहा था. इसके भूतल पर 20 ग्राहकों के बैठकर भोजन करने की व्यवस्था थी. इसकी दूसरी मंजिल पर ‘कराओके रूम’ थे.

बचाव कार्य में मार्गदर्शन के लिए चीन के आपातकालीन प्रबंधन मंत्रालय, आवास और शहरी-ग्रामीण विकास मंत्रालय एवं बाजार विनियमन से संबंधित राज्य प्रशासन के सदस्यों सहित एक संयुक्त कार्य दल को घटनास्थल पर भेजा गया है. आपातकालीन चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए चार चिकित्सा विशेषज्ञ संयुक्त कार्य दल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे.

‘शिन्हुआ’ की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय बचाव दल ने 102 लोगों और 20 वाहनों को घटनास्थल पर भेजा और बचाव अभियान बृहस्पतिवार को तड़के समाप्त हो गया. निंग्जिया हुई स्वायत्त क्षेत्र में मुख्यत: चीन के हुई मुस्लिम समुदाय के लोग रहते हैं. चीन में लगभग दो करोड़ मुस्लिम होने का अनुमान है, जिनमें से ज्यादातर उइगर समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. उइगर तुर्क मूल का एक जातीय समूह है और हुई मुस्लिम चीनी जातीय मूल के हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button