ओडिशा में हर्ष-उल्लास के साथ मनाया गया कृषि पर्व ‘नुआखाई’

भुवनेश्वर. ओडिशा में और विशेष रूप से राज्य के पश्चिमी हिस्से में कृषि पर्व ‘नुआखाई’ बृहस्पतिवार को हर्ष-उल्लास के साथ मनाया गया. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं दीं. ओडिशा की रहने वाली मुर्मू ने ‘नुआखाई जुहार’ के साथ राज्य के लोगों को शुभकामनाएं दीं.

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘मैं ओडिशा, खास तौर से पश्चिमी ओडिशा के भाई-बहनों को शुभकामनाएं देती हूं. मेरी हार्दिक इच्छा है कि प्रेम, भक्ति और सद्भाव का यह अनूठा पर्व सभी के लिए खुशियां, शांति और समृद्धि लेकर आए.’’ प्रधानमंत्री ने भी लोगों को इस अवसर पर शुभकामनाएं दीं.

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘नुआखाई जुहार! इस विशेष दिन पर सभी को शुभकामनाएं. यह हमारे मेहनती किसानों के प्रति आभार व्यक्त करने का अवसर है, जो हमारे देश के अन्नदाता हैं. कामना करता हूं कि हमारा समाज प्रगति की नई ऊंचाइयां छुए तथा सभी लोग प्रसन्न और स्वस्थ रहें.’’ मुख्यमंत्री पटनायक ने सभी लोगों के कल्याण के लिए देवी समलेस्वरी से प्रार्थना की. मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ओडिशा के कृषि पर्व नुआखाई के अवसर पर मेरी शुभकामनाएं.’’ राज्यपाल गणेशी लाल, केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और अन्य नेताओं ने भी राज्य के लोगों को इस पर्व पर शुभकामनाएं दीं.

नुआखाई खरीफ की पहली फसल कटने के अवसर पर मनायी जाती है और पश्चिमी ओडिशा में इस फसल से तैयार किया जाने वाला प्रसाद भगवान को भोग लगाया जाता है. नुआखाई में ‘नुआ’ का मतलब नया और ‘खाई’ का अर्थ ‘भोजन’ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button