कांग्रेस आदिवासियों को वोट बैंक समझती है : विष्णु देव साय

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मनोनीत मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने रविवार को कांग्रेस पर आदिवासियों को वोट बैंक समझने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा आदिवासियों के कल्याण का ख्याल रखती है. राज्य में भाजपा के प्रमुख आदिवासी चेहरे विष्णु देव साय को रविवार को यहां नवनिर्वाचित 54 भाजपा विधायकों की बैठक के दौरान विधायक दल का नेता चुना गया.

साय आज शाम राज्य अतिथि गृह ‘पहुना’ पहुंचे जहां उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की, जो मुख्यमंत्री पद पर उनके चुनाव की घोषणा के बाद उनका बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. राज्य अतिथि गृह में संवाददाताओं से बात करते हुए साय ने कहा, ”वास्तव में यह (सीएम पद) एक बड़ी जिम्मेदारी है और चुनौतीपूर्ण है, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि मुझे राष्ट्रीय नेतृत्व और सभी पार्टी विधायकों से मार्गदर्शन और समर्थन मिलता रहेगा.”

उन्होंने कहा, ”पार्टी ने मुझे जो भी जिम्मेदारियां दी हैं, मैंने उसका निर्वहन किया है और मुझे विश्वास है कि इस बार भी मैं नई चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारी को उसी तरह निभाऊंगा.” यह पूछे जाने पर कि क्या मुख्यमंत्री पद पर उनकी नियुक्ति से पार्टी को ओड़िशा और झारखंड जैसे आदिवासी बहुल राज्यों में फायदा होगा, साय ने कहा, “देश के आदिवासी भाजपा से जुड़े हुए हैं क्योंकि वे अच्छी तरह से जानते हैं कि यह उनकी एकमात्र शुभचिंतक पार्टी है. आदिवासी समुदाय से आने वाली माननीय द्रौपदी मुर्मू जी भाजपा शासनकाल में देश की राष्ट्रपति बनीं. जब केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी तब अलग आदिवासी विकास मंत्रालय का गठन किया गया था. वाजपेयी जी छत्तीसगढ़ राज्य के संस्थापक भी हैं.”

उन्होंने कहा, ”आदिवासी भलीभांति जानते हैं कि उनका विकास, खुशहाली और सम्मान भाजपा में है.” बाद में वह राजधानी रायपुर के जयस्तंभ चौक गये और आदिवासी समुदाय के महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद वीर नारायण सिंह की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किया.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “आज शहीद वीर नारायण सिंह जी की पुण्य तिथि है और इसलिए मैं उन्हें श्रद्धांजलि देने आया हूं. भाजपा आदिवासी समुदाय का ख्याल रखती है. मुझे आज यह नहीं कहना चाहिए लेकिन कांग्रेस आदिवासियों को अपना वोट बैंक मानती है.” इसके बाद, वह यहां विधायक कॉलोनी स्थित अपने आवास पर गए जहां उनके परिवार के सदस्यों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया.

Back to top button