भारत ने जिंबाब्वे को 10 विकेट से रौंदा

हरारे. दीपक चाहर की अगुआई में गेंदबाजों के कमाल के बाद शुभमन गिल और शिखर धवन के नाबाद अर्धशतकों से भारत ने पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में गुरुवार को यहां जिंबाब्वे पर 10 विकेट की एकतरफा जीत दर्ज करके तीन मैच की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बनाई. भारत ने एकदिवसीय क्रिकेट में तीसरी बार जिंबाब्वे को 10 विकेट से हराया है.

जिंबाब्वे के 190 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने गिल (72 गेंद में नाबाद 82, 10 चौके, एक छक्का) और धवन (113 गेंद में नाबाद 81, नौ चौके) के बीच अटूट शतकीय साझेदारी से 19.1 ओवर शेष रहते बिना विकेट खोए 192 रन बनाकर जीत दर्ज की.
चोटिल होने के कारण लगभग छह महीने बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे चाहर (27 रन देकर तीन विकेट), अक्षर पटेल (24 रन पर तीन विकेट) और प्रसिद्ध कृष्णा (50 रन पर तीन विकेट) ने इससे पहले तीन-तीन विकेट चटकाए जिससे जिंबाब्वे की टीम 40.3 ओवर में सिर्फ 189 रन पर सिमट गई.

जिंबाब्वे ने 110 रन पर आठ विकेट गंवा दिए थे लेकिन रिचर्ड एनगारवा (34) और ब्रेड इवान्स (नाबाद 33) ने नौवें विकेट के लिए 70 रन जोड़कर टीम को सस्ते में सिमटने से बचाया. कप्तान रेगिस चकाब्वा 35 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे. लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को धवन और गिल की जोड़ी ने सतर्क शुरुआत दिलाई. धवन ने एनगारवा की पहली दो गेंदों पर चौके के साथ खाता खोला.

भारत ने शुरुआती 10 ओवर में बिना विकेट खोए 43 रन बनाए. धवन को 32 रन के स्कोर पर सीन विलियम्स की गेंद पर जीवनदान मिला जब क्षेत्ररक्षक ने उनका कैच टपका दिया.गिल ने इवान्स पर तीन चौकों के साथ तेवर दिखाए. धवन ने विलियम्स की गेंद पर एक रन के साथ 76 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और फिर सिकंदर रजा पर चौके के साथ 20वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया.

गिल ने रेयान बर्ल पर लगातार दो चौकों के साथ 51 गेंद में करियर का तीसरा अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने वेस्ली माधेवेरे की लगातार गेंदों पर चौके और छक्के के साथ 26वें ओवर में टीम के 150 रन पूरे किए. गिल ने नगारवा पर तीन चौके जड़े जबकि धवन ने इवान्स पर चौके के साथ 31वें ओवर में ही भारत को जीत दिला दी. इससे पहले कोविड-19 और खेल र्हिनया की सर्जरी के कारण लगभग तीन महीने बाद वापसी कर रहे भारतीय कप्तान लोकेश राहुल के टॉस जीतकर गेंदबाजी करने के फैसले को उनके गेंदबाजों ने सही साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

जिंबाब्वे की शुरुआत बेहद खराब रही. टीम ने 11वें ओवर में 31 रन तक ही चार विकेट गंवा दिए. चाहर और सिराज ने कुछ दिशाहीन गेंदों के अलावा अन्य गेंदों पर बल्लेबाजों को काफी परेशान किया. अंतत: छठे ओवर में इनोसेंट काइया का धैर्य जवाब दे गया और वह चाहर की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में विकेटकीपर संजू सैमसन को कैच दे बैठे. काइया ने 20 गेंद में चार रन बनाए. चाहर के अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज तादिवनाशे मरुमानी (08) ने भी सैमसन को कैच थमाया.

सिराज ने अनुभवी सीन विलियम्स (01) को पहली स्लिप में धवन के हाथों कैच कराया जबकि चाहर ने वेस्ली माधेवेरे (05) को पगबाधा करके जिंबाब्वे को चौथा झटका दिया. भारतीय गेंदबाजों के दबदबे का अंदाजा इस बात से लगता है कि जिंबाब्वे के बल्लेबाज शुरुआती 10 ओवर में सिर्फ एक चौका जड़ पाए जो मरुमानी के बल्ले से निकला.

चकाब्वा और सिकंदर रजा (12) की अनुभवी जोड़ी ने पारी को संभालने की कोशिश की. चकाब्वा ने सिराज पर लगातार दो चौके मारे जबकि रजा ने चाहर पर चौके के साथ 13वें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया. कृष्णा ने रजा को पहली स्लिप में धवन के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा और फिर रेयान बर्ल (11) की पारी का भी अंत किया. ल्यूक जोंगवे (13) ने कृष्णा पर दो चौके के साथ 26वें ओवर में टीम के रनों सैकड़ा पूरा किया.

अक्षर ने अगले ओवर में चकाब्वा को बोल्ड किया और फिर अगले ओवर में जोंगवे को पगबाधा करके जिंबाब्वे का स्कोर आठ विकेट पर 110 रन किया. इवान्स और एनगारवा ने इसके बाद पारी को संवारा. दोनों ने अक्षर पर चौके मारे जबकि इवान्स ने 36वें ओवर में कुलदीप यादव पर छक्के के साथ टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया.

एनगारवा ने भी कृष्णा पर चौका और अक्षर पर छक्का मारा. कृष्णा ने एनगारवा को बोल्ड करके इवान्स के साथ उनकी साझेदारी का अंत किया. उन्होंने 42 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का मारा. अक्षर ने विक्टर नयाउची (08) को स्लिप में गिल के हाथों कैच कराके जिंबाब्वे की पारी का अंत किया.

Related Articles

Back to top button