जामताड़ा के ई-ठगी गिरोहों ने मप्र के बैंक ग्राहकों को लगाया चूना, शिक्षक समेत दो गिरफ्तार

इंदौर. मध्यप्रदेश पुलिस के साइबर दस्ते ने एक निजी बैंक के ग्राहकों को चूना लगाने के मामलों में झारखंड के जामताड़ा के अलग-अलग ई-ठगी गिरोहों के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है. इनमें एक सरकारी महाविद्यालय का शिक्षक भी शामिल है. पुलिस के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी.

साइबर दस्ते के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों की पहचान काली कुमार घोष (56) तथा अर्जुन राणा (26) के रूप में हुई है. पुलिस अधीक्षक के मुताबिक दोनों जामताड़ा के अलग-अलग गिरोहों से जुड़े हैं. सिंह ने बताया कि उच्च शिक्षित घोष झारखंड के इस कस्बे के शासकीय महिला इंटर कॉलेज में शिक्षक के रूप में पदस्थ है.

उन्होंने बताया कि घोष पर उस गिरोह से जुड़े होने का आरोप है जिसने उज्जैन के एक व्यक्ति को यह झांसा देकर 23.62 लाख रुपये अलग-अलग खातों में जमा करा लिए थे कि उसे पुरस्कार के रूप में ‘‘फंड आॅफ आईसीआईसीआई बैंक’’ में निवेश का सुनहरा अवसर दिया जा रहा है.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ई-ठगी के अन्य मामले में गिरफ्तार राणा महज आठवीं पास है और चार भाषाएं जानता है. उन्होंने बताया कि राणा ने फोन पर बातचीत के दौरान खुद को आईसीआईसीआई बैंक का अधिकृत अफसर बताया था और क्रेडिट कार्ड से जुड़ी समस्या सुलझाने के नाम पर इंदौर के एक बैंक ग्राहक को दो लाख रुपये का चूना लगा दिया था.

सिंह ने बताया, ‘‘आरोपी ने बातों-बातों में पीड़ित से उसके क्रेडिट कार्ड की जानकारी ले ली थी और उसके मोबाइल फोन पर एक ंिलक तथा वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) भेजा था. जैसे ही पीड़ित ने आरोपी को ओटीपी बताया, उसके खाते से दो लाख रुपये कट गए थे.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button