JDU ने विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के टूटने के लिए कांग्रेस की हठ को जिम्मेदार ठहराया, राहुल पर साधा निशाना

नयी दिल्ली. जनता दल (यूनाइटेड) ने बिहार में विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) के टूटने के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि इसके नेता अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगे थे, विपक्षी गठबंधन को नहीं.
जद (यू) के प्रवक्ता के. सी. त्यागी ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस के भीतर का एक ”गुट” ‘इंडिया’ गठबंधन का नेतृत्व हथियाना चाहता था और साजिश के तहत नेता मल्लिकार्जुन खरगे का नाम गठबंधन के अध्यक्ष के तौर पर प्रस्तावित किया गया.

इस महीने की शुरुआत में ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक में खरगे के बारे में लिए गए निर्णय से जद (यू) को झटका लगा था. पार्टी का मानना था कि उसके अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम संयोजक के लिए प्रस्तावित किया जाएगा. जद (यू) के एक अन्य प्रवक्ता राजीव रंजन ने कांग्रेस पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ऐसे व्यक्ति को प्रधानमंत्री बनाने की कोशिश में खुद को डुबो दिया जिसमें कोई योग्यता नहीं है और विपक्षी गठबंधन को नुकसान पहुंचाता है. माना जा रहा है कि उनका निशाना राहुल गांधी पर था.

रंजन ने कांग्रेस को ”भस्मासुर” (पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा राक्षस जो जिसे भी छूता था, वह भस्म हो जाता था) करार दिया. त्यागी ने कुमार पर अवसरवादी होने के कांग्रेस के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि मुख्य विपक्षी पार्टी की हठ के कारण ही ‘इंडिया’ गठबंधन को झटका लगा है. उन्होंने कहा कि जद(यू) को बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ स्थानीय स्तर पर समस्या है, लेकिन उन्होंने इस घटनाक्रम के लिए कांग्रेस को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया.

त्यागी ने कहा, ”हमें खेद के साथ ही राहत भी है कि हमारे नेता ‘इंडिया’ गठबंधन बाहर निकल आए हैं.” उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने सहयोगियों जैसे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ में शामिल होने का ”आदेश” दिया जैसे वे उनकी पार्टी के कार्यकर्ता हों.

त्यागी ने कहा कि कांग्रेस ने उन राज्यों में कभी सहयोगियों की मदद नहीं की जहां उसकी स्थिति मजबूत है. उन्होंने कहा कि भाजपा जैसी जमीनी स्तर की पार्टी, जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसे लोकप्रिय नेता कर रहे हैं, से मुकाबला करने के लिए ‘इंडिया’ गठबंधन के पास जरूरी दृष्टिकोण का अभाव है.

Related Articles

Back to top button