नर समुद्री घोड़े देते हैं बच्चे को जन्म, नये शोध से खुलासा

सिडनी. समुद्री घोड़ा या अश्वमीन और पाइपफिश दो ऐसी प्रजातियां है, जिनमें नर गर्भ धारण करता है और बच्चे को जन्म देता है. नर अश्वमीन अपने बढ़ते भ्रूणों को अपनी पूंछ में लगी एक थैली में सेते हैं. अश्वमीन की यह थैली मादा स्तनधारियों के गर्भाशय के समान होती है. इसमें एक प्लेसेंटा होता है, जो विकसित होते भ्रूणों से जुड़ा होता है.

नर अश्वमीन स्तनधारियों के आनुवंशिक गुणों के अनुरूप अपने बच्चों को पोषक तत्व और आॅक्सीजन प्रदान करते हैं.
हालांकि, जब जन्म देने की बात आती है, तो हमारे शोध से पता चलता है कि नर समुद्री घोड़े प्रसूति के दर्द के प्रबंधन के लिए अपनी अद्वितीय शरीर संरचना का इस्तेमाल करते हैं.

जानवर कैसे जन्म देते हैं
बच्चे को जन्म देना एक जटिल जैविक प्रक्रिया है जो मादा गर्भवती जानवरों में आॅक्सीटोसिन सहित हार्मोन द्वारा नियंत्रित होती है. स्तनधारियों और सरीसृपों में, आॅक्सीटोसिन गर्भाशय की चिकनी मांसपेशियों में संकुचन को बढ़ावा देता है. तीन मुख्य प्रकार की मांसपेशियां हैं: चिकनी पेशी, कंकाल की मांसपेशी और हृदय की मांसपेशी.

अधिकांश आंतरिक अंगों और रक्त वाहिकाओं की दीवारों में चिकनी पेशी पाई जाती है. इस मांसपेशी को किसी प्रकार के नियंत्रण की आवश्यकता नहीं होती. उदाहरण के लिए, आपकी आंतें चिकनी पेशी के साथ पंक्तिबद्ध होती हैं, जो लयबद्ध रूप से आपकी आंत के माध्यम से भोजन को स्थानांतरित करने का काम करती हैं, बिना आपके नियंत्रण अथवा निर्देश के.

कंकाल मांसपेशी आपके पूरे शरीर में पाई जाती है और टेंडन के माध्यम से हड्डियों से जुड़ जाती है, जिससे शरीर को गति मिलती है. इस प्रकार की मांसपेशी सचेत नियंत्रण में होती है. उदाहरण के लिए, जब आपकी बाइसेप्स मांसपेशियां सिकुड़ती हैं तो आप सचेत रूप से अपने हाथ को मोड़ सकते हैं.

हृदय की मांसपेशी हृदय के लिए विशिष्ट होती है और अनैच्छिक नियंत्रण में भी होती है. मादा स्तनधारियों में गर्भाशय की दीवार में प्रचुर मात्रा में चिकनी पेशी होती है. आॅक्सीटोसिन इस चिकनी पेशी को सिकुड़ने के लिए प्रेरित करता है, जिससे प्रसव पीड़ा होती है. ये गर्भाशय संकुचन सहज और अनैच्छिक होते हैं. हम आॅक्सीटोसिन के जवाब में इन गर्भाशय के संकुचन को माप सकते हैं, और परिणाम स्तनधारियों और सरीसृप दोनों में सुसंगत हैं.

नर समुद्री घोड़े कैसे जन्म देते हैं? सिडनी विश्वविद्यालय और न्यूकैसल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की हमारी टीम ने यह निर्धारित करने के लिए शोध किया कि नर समुद्री घोड़ों में प्रसव पीड़ा कैसे होती है. हमारे अनुवांशिक डेटा ने सुझाव दिया कि समुद्री घोड़े की प्रसव पीड़ा में मादा स्तनधारियों में होने वाली प्रसव पीड़ा के समान प्रक्रिया शामिल हो सकती है. 1970 में एक अध्ययन से यह भी पता चला कि जब गैर-गर्भवती नर समुद्री घोड़ों को आॅक्सीटोसिन (जिसे आइसोटोसिन भी कहा जाता है) के मछली संस्करण के संपर्क में लाया गया, तो उन्होंने प्रसव पीड़ा जैसा व्यवहार किया.

इसलिए, हमने भविष्यवाणी की थी कि नर समुद्री घोड़े ब्रूड पाउच के अंदर चिकनी मांसपेशियों को सिकोड़कर जन्म देने की प्रक्रिया को नियंत्रित करने के लिए आॅक्सीटोसिन-पारिवारिक हार्मोन का उपयोग करेंगे.

हमने क्या पाया
सबसे पहले, हमने समुद्री घोड़े की थैली के टुकड़ों को आइसोटोसिन के सामने उजागर किया. आइसोटोसिन ने हमारे नियंत्रण ऊतकों (आंत) को सक्रिय किया, आश्चर्यजनक रूप से इस हार्मोन ने ब्रूड पाउच में कोई संकुचन नहीं किया. इस परिणाम ने हमें थैली की संरचना के बारे में सोचने के लिए प्रेरित किया. जब हमने माइक्रोस्कोप के तहत थैली की जांच की, तो हमने पाया कि इसमें चिकनी पेशी के केवल बिखरे हुए छोटे समूह होते हैं, जो मादा स्तनधारियों के गर्भाशय से बहुत कम होते हैं. इससे पता चला कि थैली हमारे प्रयोगों में सक्रिय क्यों नहीं हुई.

इसलिए, हमने भविष्यवाणी की थी कि नर समुद्री घोड़े ब्रूड पाउच के अंदर चिकनी मांसपेशियों को सिकोड़कर जन्म देने की प्रक्रिया को नियंत्रित करने के लिए आॅक्सीटोसिन-पारिवारिक हार्मोन का उपयोग करेंगे. माइक्रोस्कोपी के साथ संयुक्त 3डी इमेंिजग तकनीकों का उपयोग करते हुए, हमने तब नर और मादा पॉट-बेलिड सीहॉर्स की शारीरिक संरचना की तुलना की.

नर में, हमें थैली की शूरूआत के पास तीन हड्डियां मिलीं, जो बड़ी कंकाल की मांसपेशियों से जुड़ी थीं. इस प्रकार की हड्डियाँ और मांसपेशियां मछली की अन्य प्रजातियों में गुदा पंख को नियंत्रित करती हैं. समुद्री घोड़ों में, गुदा पंख छोटा होता है और तैरने में बहुत कम या कोई कार्य नहीं करता है.

तो, छोटे समुद्री घोड़े के पंख से जुड़ी बड़ी मांसपेशियां आश्चर्यजनक हैं. मादा समुद्री घोड़ों की तुलना में नर समुद्री घोड़ों में गुदा पंख की मांसपेशियां और हड्डियां बहुत बड़ी होती हैं, और उनके अभिविन्यास से पता चलता है कि वे थैली के द्वार को नियंत्रित कर सकते हैं.
प्रसव के दौरान, नर समुद्री घोड़े अपने शरीर को पूंछ की ओर झुकाते हैं, दबाते हैं और फिर आराम करते हैं. इस प्रक्रिया के दौरान, पूरे शरीर में एक झटके के साथ थैली का मुंह खुल जाता है और धीरे धीरे सैकड़ों नवजात समुद्री घोड़े समुद्र के पानी में बहते दिखाई देते हैं.

हमारे निष्कर्ष बताते हैं कि प्रेमालाप और शिशु जन्म के लिए थैली को खोलना थैली के मुख के पास स्थित बड़े कंकाल की मांसपेशियों के संकुचन से सुगम होता है. हम मानते हैं कि ये मांसपेशियां सीहॉर्स पाउच के खुलने को नियंत्रित करती हैं, जिससे सीहॉर्स पिता गर्भावस्था के अंत में अपने बच्चों के जन्म को सचेत रूप से नियंत्रित कर सकते हैं.

भविष्य में बायोमेकेनिकल और इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिकल अध्ययनों की आवश्यकता है ताकि इन मांसपेशियों को सक्रिय करने वाले आवश्यक बल की जांच की जा सके और परीक्षण किया जा सके कि वे थैली के खुलने की प्रक्रिया को नियंत्रित करते हैं या नहीं.
गर्भावस्था के दौरान नर समुद्री घोड़े मादा स्तनधारियों और सरीसृपों के साथ समानता के बावजूद, अपने बच्चों को जन्म देने के लिए एक अनूठा तरीका अपनाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button