ममता ने संदेशखाली की महिलाओं की दुर्दशा पर दुख जताया, भाजपा पर ‘साजिश’ का आरोप लगाया

बशीरहाट. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि संदेशखाली की महिलाओं की दुर्दशा देखकर उन्हें बहुत दुख हुआ है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को संकटग्रस्त क्षेत्र में महिलाओं की गरिमा के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए और उसकी साजिश अब बेनकाब हो गई है.

बशीरहाट में एक रैली को संबोधित करने के दौरान बनर्जी ने संदेशखाली में प्रदर्शन करने वाली और भाजपा उम्मीदवार रेखा पात्रा से फोन पर बात करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना की. उन्होंने आरोप लगाया कि देश में भाजपा शासन में ‘महिलाओं की सुरक्षा और संरक्षा’ के मामले में सबसे खराब रिकॉर्ड है.

संदेशखाली उत्तर 24 परगना जिले में बशीरहाट लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है. बनर्जी ने जनवरी में संदेशखाली का मुद्दा सामने आने के बाद इस लोकसभा क्षेत्र की अपनी पहली यात्रा में कहा, ”संदेशखाली की महिलाओं के साथ जो कुछ भी हुआ और जिस तरह से उन्हें अपमानित किया गया, उसका मुझे खेद है. मैं दिल से अपना दुख व्यक्त करती हूं.” उन्होंने कहा कि किसी को भी महिलाओं की गरिमा के साथ खिलवाड़ करने का दुस्साहस नहीं करना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि अगर वीडियो सामने नहीं आए होते तो लोग कभी नहीं समझ पाते कि भाजपा ने कैसे साजिश रची. ममता ने कहा कि भाजपा को महिलाओं की गरिमा के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए.

बनर्जी की टिप्पणी सोशल मीडिया पर सामने आ रहे कई कथित वीडियो की पृष्ठभूमि में आई है, जिनमें दावा किया गया है कि एक स्थानीय भाजपा नेता ने संदेशखाली की कई महिलाओं से कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराए, जिनका इस्तेमाल बाद में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेताओं के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज करने में किया गया. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि वह जल्द ही संदेशखाली क्षेत्र का दौरा करेंगी. उन्होंने कहा,”हमारी पार्टी के उम्मीदवार हाजी नूरुल जैसे ही बशीरहाट सीट से जीतेंगे, कुछ दिन के भीतर मेरी पहली यात्रा संदेशखाली की होगी. मैं वहां के लोगों से मिलने जाऊंगी.” बशीरहाट सीट के लिए सातवें चरण में एक जून को मतदान होगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button