नेतन्याहू ने गाजा से हटने या हजारों आतंकवादियों की रिहाई से इनकार किया, हमास ने की थी मांग

यरुशलम/जेनिन. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मंगलवार को कहा कि गाजा से कोई सैन्य वापसी या जेल में बंद हजारों आतंकवादियों की रिहाई नहीं होगी. फिलहाल चल रही अप्रत्यक्ष संघर्ष विराम वार्ता में हमास की तरफ से रखी गई यह दो मांग प्रमुख हैं.

कब्जे वाले पश्चिमी तट में एक कार्यक्रम के दौरान, उन्होंने एक बार फिर संकल्प जताया कि हमास पर “पूर्ण विजय” के बिना युद्ध समाप्त नहीं होगा. उन्होंने कहा, “हम अपने सभी लक्ष्यों को हासिल किए बिना युद्ध खत्म नहीं करेंगे.” प्रधानमंत्री ने कहा, “हम गाजा पट्टी से इजरायली सेना को नहीं हटाएंगे और हजारों आतंकवादियों को रिहा नहीं करेंगे.”

इजराइली बलों ने वेस्ट बैंक में अस्पताल में हमला किया, तीन आतंकवादियों को मार गिराया

असैन्य महिलाओं और चिकित्सा र्किमयों के भेष में इजरायली बलों ने मंगलवार को वेस्ट बैंक में एक अस्पताल पर हमला किया, जिसमें एक नाटकीय हमले में तीन फलस्तीनी आतंकवादियों की मौत हो गई. इससे पता चलता है कि गाजा में युद्ध से क्षेत्र में कितनी घातक हिंसा फैल गई है.

फलस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इजराइली बलों ने जेनिन कस्बे में स्थित इब्न सिना अस्पताल के वार्डों में गोलीबारी शुरू कर दी. मंत्रालय ने हमले की निंदा की और अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया कि अस्पतालों में इस तरह के अभियानों पर रोक लगाने के लिए इजराइल की सेना पर दबाव बनाया जाए. अस्पताल के एक प्रवक्ता ने कहा कि दोनों तरफ से गोलीबारी नहीं हुई जिससे संकेत मिलता है कि यह निशाना साधकर लोगों को मारने का मामला है.

सेना ने कहा कि आतंकवादी छिपने के लिए अस्पताल का इस्तेमाल कर रहे थे. हालांकि उसने इस बाबत सबूत पेश नहीं किए. उसने आरोप लगाया कि हमले में जिन लोगों पर निशाना साधा गया उनमें से एक ने सात अक्टूबर को दक्षिण इजराइल पर हमास के हमले के बाद एक सुनियोजित हमले के लिए अन्य लोगों को हथियार और गोला-बारूद पहुंचाए थे.

Related Articles

Back to top button