नए संसद भवन में गूंजे ‘मोदी-मोदी, भारत माता, जय श्रीराम और हर-हर महादेव’ के नारे

नयी दिल्ली. नए संसद भवन के उद्घाटन के बाद लोकसभा में आयोजित समारोह में रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रवेश करने से पहले ही पूरा कक्ष तालियों की गड़गड़ाहट के साथ ही ‘मोदी-मोदी, भारत माता, जय श्रीराम और हर-हर महादेव’ के नारों से गूंज उठा.
प्रवेश द्वार से मोदी के आगमन से लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के साथ मंच पर उनके पहुंचने तथा समारोह की औपचारिक शुरुआत होने तक तालियों की गड़गड़ाहट जारी रही. कक्ष के अंदर दो बड़े स्क्रीन थे, जिन पर मोदी के आगमन का सीधा प्रसारण हो रहा था. प्रधानमंत्री ने जैसे ही कक्ष में कदम रखा तो इस दौरान कुछ सदस्यों ने ‘शिवाजी महाराज की जय’ के नारे भी लगाए.

मंच की ओर बढ़ते समय मोदी ने उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोंिवद और पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा सहित कई गणमान्य लोगों का अभिवादन किया. इस दौरान सभी सदस्य अपने स्थानों पर खड़े होकर तालियां बजा रहे थे.
देवगौड़ा सबसे पहले पहुंचने वाले वरिष्ठ नेताओं में शामिल थे. वह व्हीलचेयर पर आए थे. वह पहली पंक्ति में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोंिवद के साथ बैठे थे. उनकी बाईं तरफ पहली पंक्ति में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा और राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल एक साथ बैठे थे.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नगालैंड के उनके समकक्ष नेफ्यू रियू, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और हरियाणा के उनके समकक्ष मनोहर लाल खट्टर तथा असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा गुजरात के अपने समकक्ष भूपेंद्र पटेल और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ ंिशदे के साथ पहली पंक्ति में बैठे नजर आए.

लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी भी पहली पंक्ति में बैठे नजर आए. लाल साड़ी में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और पीली साड़ी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक साथ कक्ष में प्रवेश किया. ईरानी ने महाजन और जोशी के पैर छूकर आशीर्वाद लिया. योगी आदित्यनाथ और अमित शाह ने भी उनका कुशलक्षेम पूछा.

आदित्यनाथ और शाह के कक्ष में पहुंचते ही बड़ी संख्या में संसद सदस्य और गणमान्य लोग उनके पास पहुंचे और उनका अभिवादन किया. कई सांसदों को दोनों नेताओं के साथ फोटो ंिखचवाते और सेल्फी लेते भी देखा गया. शाह के पहुंचने के बाद जगनमोहन रेड्डी उनके पास आकर बैठ गए और फिर दोनों नेताओं ने कुछ देर चर्चा भी की. बाद में वह निर्मला सीतारमण के साथ चर्चा करते देखे गए.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी त्रिपुरा, मेघालय और सिक्किम के अपने समकक्षों-क्रमश: माणिक साहा, पेमा खांडू और प्रेम सिंह तमांग के साथ दूसरी पंक्ति में बैठे नजर आए. विदेश मंत्री एस जयशंकर सहित कई केंद्रीय मंत्री दूसरी पंक्ति में बैठे दिखे.
शिवसेना के ंिशदे गुट के सांसद रंगीन पगड़ी पहने हुए सभी का ध्यान अपनी ओर आर्किषत कर रहे थे.

मथुरा से भाजपा की सांसद हेमा मालिनी कई महिला सांसदों के साथ बैठी थीं. उन्हें भी फोटो और सेल्फी लेते देखा गया. कुछ सदस्यों ने वहां मौजूद सुरक्षार्किमयों से आग्रह कर समूह में तस्वीरें ंिखचवाईं. भाजपा के सांसद वरुण गांधी अपनी मां व पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के साथ पहुंचे और पिछली ओर की एक पंक्ति में दोनों साथ ही बैठे रहे. इस दौरान भाजपा सांसद पूनम महाजन और मेनका गांधी को चर्चा करते देखा गया.

प्रधानमंत्री मोदी जब मंच से संबोधन दे रहे थे तब साक्षी महाराज सहित कई सदस्यों को उनका वीडियो बनाते भी देखा गया.
मोदी के करीब 35 मिनट के संबोधन के दौरान कमोबेश हर दो लाइन के बाद तालियां बजीं और जब उनका संबोधन समाप्त हुआ तो सदस्यों ने खड़े होकर कुछ मिनट तक तालियां बजाईं.

संबोधन समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री ने सामने की पंक्ति में बैठे सभी नेताओं से मुलाकात की. वह मुरली मनोहर जोशी, सुमित्रा महाजन और देवगौड़ा का हालचाल पूछते भी नजर आए. उन्होंने हाथ हिलाकर और हाथ जोड़कर पीछे की ओर बैठे सदस्यों का भी अभिवादन किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button