दक्षिण अफ्रीका ने अफगानिस्तान को पांच विकेट से हराया

अहमदाबाद. पहले ही सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर चुकी दक्षिण अफ्रीका ने शुक्रवार को यहां विश्व कप के अपने अंतिम लीग मैच में अफगानिस्तान से मिली चुनौती को पांच विकेट से पस्त कर दिया. अफगानिस्तान की टीम युवा आल राउंडर अजमतुल्लाह ओमरजई ने नाबाद 97 रन की पारी के बाद 50 ओवर में 244 रन पर सिमट गयी.

दक्षिण अफ्रीका ने रासी वान डर डुसेन की 95 गेंद में नाबाद 76 रन की पारी की बदौलत यह लक्ष्य 47.3 ओवर में पांच विकेट पर 247 रन बनाकर हासिल कर लिया. वान डर डुसेन और एंडिले फेलुकवायो ने नाबाद 65 रन की भागीदारी निभाकर टीम को जीत तक पहुंचाया. फेलुकवायो ने नाबाद 39 रन बनाये.

अफगानिस्तान के लिए ओमरजई ने टूर्नामेंट में अच्छी लय जारी रखते हुए 107 गेंद में सात चौके और तीन छक्के जड़े, हालांकि वह अपने पहले वनडे शतक से चूक गये और नरेंद्र मोदी स्टेडियम में अंतिम ओवर की अंतिम तीन गेंद पर कागिसो रबाडा के खिलाफ कोई रन नहीं बना सके. उन्होंने तब टीम को संभाला जब उसने छह विकेट 116 रन पर गंवा दिये थे.

दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे सफल गेंदबाज जेराल्ड कोएत्जी रहे जिन्होंने 10 ओवर में एक मेडन से 44 रन देकर चार विकेट झटके.
दक्षिण अफ्रीका ने अच्छी शुरूआत की. फॉर्म में चल रहे क्विंटन डिकॉक (47 गेंद में 41 रन) ने मुजीबुर रहमान पर चौका और छक्का जड़कर अपने इरादे साफ कर दिये थे. उन्होंने नवीनुल हक पर स्क्वायर लेग में शानदार छक्का जड़ा. लेकिन वह बड़ी पारी नहीं खेल सके और मोहम्मद नबी की गेंद पर रिव्यू में पगबाधा आउट हुए.

कप्तान तेम्बा बावुमा (28 गेंद में 23 रन) की खराब फॉर्म जारी रही जिन्हें मुजीबुर रहमान ने आउट किया. ऐडन मार्कराम (32 गेंद में 25 रन) ने अच्छी शुरूआत की लेकिन राशिद खान की गेंद पर नवीनुल हक को कैच थमा बैठे. हेनरिच क्लासेन को राशिद खान ने बोल्ड कर दिया. फिर डेविड मिलर (24 रन) ने वान डर डुसेन का साथ निभाया और 43 रन की साझेदारी की. लेकिन नबी ने मिलर को आउट कर इसे तोड़ दिया. वान डर डुसेन ने फेलुकवायो के साथ मिलकर 15 गेंद रहते टीम की जीत सुनिश्चित की.

इससे पहले अफगानिस्तान के कप्तान हशमतुल्लाह शाहिदी ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया जिसके बाद टीम ने अच्छी शुरूआत की लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने चार रन के अंदर तीन विकेट झटककर 11वें ओवर में प्रतिद्वंद्वी टीम का स्कोर तीन विकेट पर 45 रन कर दिया. इससे ऐसा लग रहा था कि शाहिदी का फैसला उन पर ही उलटा पड़ गया क्योंकि कप्तान तेम्बा बावुमा ने अपने गेंदबाजों का बखूबी इस्तेमाल किया.

पर उसके तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी को टखने में परेशानी के कारण मैदान से बाहर जाना पड़ा. उन्होंने रहमत शाह और मोहम्मद नबी के विकेट लिये. रहमतुल्लाह गुरबाज (21 गेंद, 25 रन) ने रबाडा की गेंद पर लांग ऑन में छक्का जड़ा और फिर उन्होंने इसी गेंदबाज पर खूबसूरत कवर ड्राइव शॉट लगाया. गुरबाज ने कोएत्जी पर दो चौके लगाये.

बावुमा ने केशव महाराज को गेंदबाजी पर लगाया और इस बायें हाथ के स्पिनर ने गुरबाज का बड़ा विकेट झटक लिया.  इस विकेट के बाद दक्षिण अफ्रीका ने तेजी से दो और विकेट झटक लिये. पिछले मैच में आस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार शतक जड़ने वाले इब्राहिम जदरान से काफी उम्मीदें थी लेकिन वह कोएत्जी की गेंद पर डिकॉक को आसान कैच देकर आउट हुए. डिकॉक ने स्टंप के पीछे रिकॉर्ड छह कैच लपके.

महाराज ने फिर कप्तान शाहिदी को अतिरिक्त उछाल लेती गेंद पर आउट किया. ओमरजई और राशिद खान ने छठे विकेट के लिए 44 रन की साझेदारी निभाकर स्कोर चलायमान रखा जिससे टीम ने 150 रन का आंकड़ा पार किया. पर राशिद (14 रन) के आउट होने से यह भागीदारी टूट गयी. ओमरजई ने फिर नूर अहमद (26 रन) के साथ मिलकर 44 रन की भागीदारी निभायी.

Related Articles

Back to top button