अफगानिस्तान में तालिबान ने महिला टीवी प्रस्तोताओं को अपने चेहरे ढकने का फरमान सुनाया

काबुल. अफगानिस्तान में तालिबान शासकों ने टीवी चैनलों पर आने वाली सभी महिला प्रस्तोताओं को कार्यक्रम के प्रसारण के दौरान अपने चेहरे ढकने का आदेश दिया है. देश के सबसे बड़े मीडिया संस्थान ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. ‘टोलो न्यूज’ चैनल ने एक ट्वीट में बताया कि तालिबान के आचरण एवं नैतिकता मंत्रालय और सूचना एवं संस्कृति मंत्रालय के बयानों में यह आदेश जारी किया गया.

चैनल के अनुसार, इस बयान में कहा गया है कि यह आदेश ‘‘अंतिम’’ है और इसमें ‘‘कोई बदलाव नहीं किया जा सकता.’’ यह बयान ‘टोलो न्यूज’ और कई अन्य टीवी एवं रेडियो नेटवर्क के मालिकाना हक वाले मोबी समूह को भेजा गया. ट्वीट में कहा गया है कि इस आदेश को अफगानिस्तान के अन्य मीडिया संस्थानों में भी लागू किया जा रहा है. अफगानिस्तान के एक स्थायी मीडिया अधिकारी ने अपने और अपने स्टेशन की पहचान गोपनीय रखे जाने की शर्त पर पुष्टि की कि उनके स्टेशन को भी ऐसा ही आदेश मिला है और इस पर चर्चा की कोई गुंजाइश नहीं रखी गई है. उन्होंने कहा कि स्टेशन के पास और कोई विकल्प नहीं है.

कई महिला टीवी कार्यक्रम प्रस्तोताओं ने सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें साझा कीं, जिनमें वे कार्यक्रम प्रस्तुत करने के दौरान अपने चेहरे को मास्क से ढके हुए दिख रही हैं. ‘टोलो न्यूज’ की एक प्रमुख प्रस्तोता यल्दा अली ने चेहरे पर मास्क पहनते हुए अपना एक वीडियो पोस्ट किया और इसका शीर्षक लिखा, ‘‘आचरण एवं नैतिकता मंत्रालय के आदेश पर एक महिला को मिटाया जा रहा है.’’

तालिबान जब 1996 से 2001 तक सत्ता में रहा था, तो उसने महिलाओं पर कई प्रतिबंध लगाए थे. तालिबान पिछले साल अगस्त में फिर से सत्ता पर काबिज होने के बाद शुरुआत में महिलाओं पर प्रतिबंधों को लेकर थोड़ा नरम रुख अपनाते प्रतीत हुआ था, लेकिन हालिया सप्ताहों में उसने फिर से प्रतिबंध कड़े करने शुरू कर दिए हैं. उसने इस महीने की शुरुआत में महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों पर सिर से लेकर पैर तक बुर्के में ढके रहने का आदेश दिया था. तालिबान के आदेश के मुताबिक, महिलाओं की केवल आंखें दिख सकती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Happy Navratri 2022


Happy Navratri 2022

This will close in 10 seconds