UPSC टॉपर इशिता किशोर ने कहा : यह सपना के सच होने के समान

नयी दिल्ली. संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा मंगलवार को घोषित सिविल सेवा परीक्षा 2022 के नतीजों में दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से स्नातक इशिता किशोर ने पहला स्थान हासिल किया है. वायु सेना अधिकारी की पुत्री इशिता किशोर (26) ने कहा कि सिविल सेवा परीक्षा में प्रथम स्थान मिलना उनके लिए सपने के सच होने जैसा है. उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी बनने के बाद वह महिला सशक्तिकरण की दिशा में काम करेंगी. उन्होंने कहा, ह्लमैं पहला स्थान पाकर बहुत खुश हूं. यह मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है.” किशोर ने अपने तीसरे प्रयास में यह कामयाबी हासिल की.

उन्होंने लगातार प्रोत्साहित करने के लिए अपने परिवार के प्रति आभार जताया. उन्होंने कहा, “मैं अपने परिवार की बहुत आभारी हूं, जब मैं पहले दो प्रयासों में सिविल सेवा परीक्षा पास नहीं कर पाई तो मेरे साथ खड़े रहे. उन्होंने मुझे बहुत प्रोत्साहित किया.” दो भाई-बहनों में सबसे छोटी किशोर ने कहा कि वह परीक्षा की तैयारी के लिए प्रति दिन कम से कम आठ-नौ घंटे पढ़ाई करती थी. उन्होंने कहा, ”यह कामयाबी मेरी कड़ी मेहनत का परिणाम है.” किशोर के पिता वायु सेना के अधिकारी थे और उनकी मां एक निजी स्कूल में अध्यापिका हैं. उनके बड़े भाई वकील हैं.

उन्होंने कहा, “मैंने भारतीय प्रशासनिक सेवा का विकल्प चुना है. मैंने उत्तर प्रदेश कैडर के लिए अपनी प्राथमिकता दी है.” राष्ट्रीय स्तर की फुटबॉल खिलाड़ी रह चुकीं किशोर ने कहा कि वह महिला सशक्तीकरण और उपेक्षित लोगों के उत्थान के लिए प्रयास करेंगी. उन्होंने कहा, “मैं राष्ट्रीय स्तर की फुटबॉल खिलाड़ी हूं. मैंने 2012 में सुब्रतो कप फुटबॉल टूर्नामेंट में भाग लिया था.” ग्रेटर नोएडा में रहने वाली किशोर ने वैकल्पिक विषयों के रूप में राजनीति विज्ञान और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के साथ परीक्षा में कामयाबी हासिल की. उन्होंने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, दिल्ली विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र (ऑनर्स) में स्नातक किया है.

घोषित परिणामों के अनुसार गरिमा लोहिया, उमा हरति एन और स्मृति मिश्रा ने परीक्षा में क्रमश? दूसरा, तीसरा और चौथा स्थान हासिल किया है. लोहिया और मिश्रा डीयू से स्नातक हैं, जबकि हरति एन. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)-हैदराबाद से बी.टेक डिग्री धारक हैं.

यह लगातार दूसरा वर्ष है जब महिला उम्मीदवारों ने प्रतिष्ठित परीक्षा में शीर्ष तीन रैंक हासिल की हैं. सिविल सेवा परीक्षा 2021 में श्रुति शर्मा, अंकिता अग्रवाल और गामिनी सिंगला ने क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया था. यूपीएससी ने कहा कि 933 उम्मीदवारों-613 पुरुषों और 320 महिलाओं ने सिविल सेवा परीक्षा 2022 उत्तीर्ण की है. शीर्ष 25 रैंक हासिल करने वाले उम्मीदवारों में 14 महिलाएं और 11 पुरुष शामिल हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button