क्या भाजपा की ‘वाशिंग मशीन’ कभी बंद होगी: कांग्रेस

स्पष्ट हो गया है कि भाजपा दक्षिण में 'साफ' और उत्तर, पश्चिम और पूर्वी भारत में 'हाफ' है: रमेश

नयी दिल्ली/रांची. कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महाराष्ट्र में जनसभा के मद्देनजर प्रदेश के कई विपक्षी नेताओं के दलबदल करने को लेकर बुधवार को उन पर निशाना साधा और सवाल किया कि क्या भारतीय जनता पार्टी की ‘वाशिंग मशीन’ कभी बंद होगी? प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को महाराष्ट्र के डिंडोरी में चुनावी सभा को संबोधित किया.

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने उनकी सभा का हवाला देते हुए ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ”भाजपा ने महाराष्ट्र में आदिवासियों के वन अधिकारों को क्यों कमज.ोर किया है? क्या भाजपा की वॉशिंग मशीन कभी घूमना बंद करेगी? महाराष्ट्र में निर्माण क्षेत्र में कार्य करने वाले श्रमिकों की मौत के मामले में तीन गुना वृद्धि क्यों हुई? उन्होंने कहा, ”वर्ष 2006 में कांग्रेस ने क्रांतिकारी वन अधिकार अधिनियम पारित किया, जिसके बाद आदिवासियों का वर्षों का संघर्ष समाप्त हुआ था. इस कानून ने आदिवासियों और वन में रहने वाले अन्य समुदायों को अपने ख.ुद के जंगलों का प्रबंधन करने और उनसे प्राप्त उपज से आर्थिक रूप से लाभ उठाने का कानूनी अधिकार दिया था. लेकिन भाजपा सरकार इस कानून के कार्यान्वयन में बाधा डालती रही है, जिससे लाखों आदिवासी इसके लाभों से वंचित हो रहे हैं.”

रमेश ने सवाल किया कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार राज्य के आदिवासी समुदायों के अधिकार क्यों छीन रही है? उन्होंने महाराष्ट्र में कांग्रेस और विपक्ष के कई नेताओं के पाला बदलने का हवाला देते हुए कहा, ”भाजपा ने अब सार्वजनिक रूप से महाराष्ट्र में नेताओं को आयात करने के लिए अपनी वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल करने की बात स्वीकार कर ली है. कई भाजपा नेताओं की तरह, भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने रवींद्र वायकर, यामिनी जाधव और नारायण राणे के ख.लिाफ. भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. इन्हें ईडी और महाराष्ट्र भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जांच का सामना भी करना पड़ा था. इसके तुरंत बाद, ये सभी नेता महायुति गठबंधन में शामिल हो गए.” रमेश ने सवान किया कि क्या ”निवर्तमान” प्रधानमंत्री इस तरह से भ्रष्टाचार के ख.लिाफ. लड़ाई लड़ रहे हैं?

यह झूठ है कि प्रधानमंत्री हिंदू-मुस्लिम की राजनीति नहीं करते: कांग्रेस

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक टिप्पणी को लेकर बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री की यह बात झूठ है कि वह हिंदू- मुस्लिम की राजनीति नहीं करते. कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने यह दावा भी किया कि लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान के दौरान प्रधानमंत्री के पास हिंदू-मुस्लिम की राजनीति को छोड़कर कोई एजेंडा नहीं था.

प्रधानमंत्री मोदी ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा है, “अगर मैं हिंदू-मुसलमान करूंगा तो मैं सार्वजनिक जीवन में रहने योग्य नहीं रहूंगा.” उनके बयान को लेकर रमेश ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, “सारा देश भलीभांति जानता है कि निवर्तमान प्रधानमंत्री आदतन झूठ बोलते हैं और दो तरह की बातें उनकी प्रवृत्ति है. श्री मोदी का यह दावा कि वह हिंदू-मुस्लिम राजनीति नहीं करते, यह दर्शाता है कि वह झूठ बोलने में दिन प्रति दिन नई गहराइयों तक गिरते जा रहे हैं.”

उन्होंने दावा किया, “19 अप्रैल 2024 के बाद से यह सार्वजनिक सच है, एक ऐसा सच जिसे हमारी सामूहिक स्मृति से नहीं मिटाया जा सकता है, भले ही श्री मोदी अपनी निजी स्मृति से उसे मिटा दें कि प्रधानमंत्री ने खुलेआम और बेशर्मी से सांप्रदायिक भाषा, प्रतीकों और संकेतों का निरंतर उपयोग किया है.” रमेश ने कहा, “इस सच की ओर हमने निर्वाचन आयोग का ध्यान भी आर्किषत किया है. इस मसले पर कार्रवाई की जानी चाहिए थी लेकिन दुख की बात है कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ.” कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि इस पूरे चुनाव अभियान के दौरान प्रधानमंत्री के पास हिंदू-मुस्लिम राजनीति को छोड़कर कोई एजेंडा नहीं था.

स्पष्ट हो गया है कि भाजपा दक्षिण में ‘साफ’ और उत्तर, पश्चिम और पूर्वी भारत में ‘हाफ’ है: रमेश

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के चार चरणों के मतदान से यह स्पष्ट संकेत मिल रहा है कि भारतीय जनता पार्टी दक्षिण भारत में ‘साफ’ और उत्तर, पश्चिम एवं पूर्वी भारत में ‘हाफ’ (आधी) हो गई है. उन्होंने रांची में संवाददाताओं से बातचीत में यह आरोप भी लगाया कि ”निवर्तमान प्रधानमंत्री” नरेन्द्र मोदी ने धार्मिक आधार पर मतदाताओं का ध्रुवीकरण किया और अब झूठ बोल रहे हैं कि उन्होंने ”कभी हिंदू-मुस्लिम की राजनीति नहीं की.”

उन्होंने कहा, ”प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक निवर्तमान प्रधानमंत्री हैं और चुनाव के शुरुआती चरणों के बाद उनकी हताशा यह कहती है. अमित शाह एक निवर्तमान गृह मंत्री हैं. हम 4 जून के बाद झूठ की महामारी से छुटकारा पा लेंगे.” कांग्रेस नेता का कहना था कि अब तक मतदान से यह संकेत मिल गया है कि भाजपा दक्षिण भारत में ‘साफ’ और उत्तर, पश्चिम और पूर्वी भारत में ‘हाफ’ रहने वाली है.
रमेश ने दावा किया कि ‘इंडिया’ गठबंधन केंद्र में सरकार बनाएगा और राष्ट्रव्यापी जाति जनगणना सुनिश्चित करेगा.

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग का बुरी तरह दुरुपयोग किया है.
रमेश ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो यह सुनिश्चित करेगी कि इन एजेंसियों को दी गई शक्तियों के बारे में फिर से विचार किया जाए.

Related Articles

Back to top button