एनआईए विस्फोट मामले को जरूरत पड़ने पर एनआईए को सौंपने पर विचार करेंगे : सिद्धरमैया

चिकमगलुरु. कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने रविवार को कहा कि सरकार जरूरत पड़ने पर रामेश्वरम कैफे विस्फोट मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को सौंपने पर विचार कर सकती है. ब्रूकफील्ड इलाके में एक मार्च को एक लोकप्रिय रेस्तरां में हुए विस्फोट के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) इस मामले में जांच कर रही है. विस्फोट में 10 लोग घायल हुए हैं.

घटना की एनआईए से जांच कराने की भाजपा की मांग पर सिद्धरमैया ने कहा, ”हम विचार करेंगे. अभी तो जांच शुरू हुई है. अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. अगर जरूरत पड़ी तो हम (एनआईए जांच के लिए) विचार करेंगे.” भाजपा के इस आरोप पर कि ‘ब्रांड बेंगलुरु’ की जगह शहर अब ‘बम बेंगलुरु’ हो गया है, सिद्धरमैया ने कहा, ”जब भाजपा के कार्यकाल में चार बम धमाके हुए थे तो इसे क्या कहा जाए? जब मंगलुरु में प्रेशर कुकर विस्फोट हुआ, तब कौन शासन कर रहा था? मल्लेश्वरम में भाजपा कार्यालय के सामने धमाका हुआ था. तब किसका शासन था? एनआईए, आईबी (खुफिया ब्यूरो) का प्रभारी कौन है? यह उनकी विफलता नहीं है?” उन्होंने स्पष्ट किया, ”मैं बम विस्फोट का समर्थन नहीं कर रहा हूं. मैं इसकी निंदा कर रहा हूं लेकिन भाजपा को इस पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.” उन्होंने कहा कि बम विस्फोटों को सरकारों ने हमेशा गंभीरता से लिया है और लोगों की सुरक्षा महत्वपूर्ण है.

Related Articles

Back to top button