सीए ने आचार संहिता में संशोधन किया, वार्नर के पास कप्तानी पर लगे प्रतिबंध में संशोधन का मौका

सिडनी: क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया (सीए) ने सोमवार को खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ से जुड़ी अपनी आचार संहिता में संशोधन किया जिसके बाद सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करने पर लगे आजीवन प्रतिबंध को ‘संशोधित’ करवा सकते हैं। नई संशोधित आचार संहिता के अनुसार अब खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ लंबी सजा को संशोधित कराने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

वार्नर को दक्षिण अफ्रीका में 2018 में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में उनकी भूमिका के लिए राष्ट्रीय टीम की कप्तानी से आजीवन प्रतिबंधित किया गया था। इस प्रकरण को ‘सेंडपेपर गेट प्रकरण’ नाम दिया गया था। बाएं हाथ का यह आक्रामक बल्लेबाज हालांकि अब अपने प्रतिबंध की समीक्षा करा सकता है क्योंकि सीए के बोर्ड ने आचार संहिता की समीक्षा को स्वीकृति दे दी है जैसा कि अक्टूबर में बोर्ड की बैठक में आग्रह किया गया था।

सीए के बयान के अनुसार, ‘‘क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया (सीए) ने अपने इंटीग्रिटी प्रमुख (जैकी पारट्रिज) की समीक्षा के बाद खिलाड़ियों और खिलाड़ियों के सहयोगी स्टाफ से जुड़ी आचार संहिता में बदलाव किया है। सीए के बोर्ड ने अक्टूबर में बोर्ड की बैठक में आचार संहिता की समीक्षा का आग्रह किया था। इस समीक्षा की सिफारिशों को स्वीकार किया गया है और औपचारिक स्वीकृति दी गई है।’’ बयान में कहा गया, ‘‘बदलावों के तहत खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ अब दीर्घकालीन प्रतिबंधों को संशोधित करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।’’

इसके अनुसार, ‘‘किसी भी आवेदन पर तीन सदस्यीय समीक्षा पैनल द्वारा विचार किया जाएगा जिसमें स्वतंत्र आचार संहिता आयुक्त शामिल हैं, जिन्हें इस बात से संतुष्ट होना चाहिए कि सजा में संशोधन के लिए असाधारण परिस्थितियां मौजूद हैं।’’ नई सिफारिशों के अनुसार आजीवन प्रतिबंध की समीक्षा की जा सकती है अगर उपरोक्त खिलाड़ी या सहयोगी स्टाफ पश्चाताप और अच्छा व्यवहार दिखाता है तो।

पैंतीस साल के वार्नर ने आॅस्ट्रेलियाई क्रिकेट में कप्तानी का विकल्प खुला रखा है। उन्होंने 2021 आईपीएल में छह मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की अगुआई की थी। अगर प्रतिबंध हटता है तो वार्नर निकट भविष्य में टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में आॅस्ट्रेलिया की अगुआई के प्रबल दावेदार हैं। उन्हें बिग बैश टीम सिडनी थंडर की कप्तानी मिलने की भी उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button