Israel-Hamas War: गाजा में इस्राइल का लगातार चौथे दिन हमला, स्कूल में शरण लेने वाले 27 लोगों की मौत

इस्राइल ने मंगलवार को फिर दक्षिणी गाजा के फलस्तीनी क्षेत्र में एक स्कूल पर हमला किया, जिसमें मरने वालों की संख्या करीब 27 पहुंच चुकी है। वहीं, दर्जनों लोग घायल हुए हैं। स्कूल को विस्थापित फलस्तीनियों ने अपना आश्रय स्थल बनाया हुआ था। इस्राइल की तरफ से यह चार दिनों में किया गया लगातार चौथा हमला है। हालांकि, इस हमले को लेकर इस्राइल की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

नासिर अस्पताल के सूत्र के अनुसार, हमला दक्षिणी शहर खान यूनिस के पास अबासन में अल-अवदा स्कूल के गेट पर हुआ। हमास द्वारा संचालित क्षेत्र के अधिकारियों ने कहा कि इन हमलों में कम से कम 20 लोगों की मौत हुई है।

इससे पहले हुए तीन हमलों को इस्राइल ने स्वीकार किया है। इस्राइल ने कहा कि तीनों हमलों में स्कूल में छिपे आतंकियों को निशाना बनाया गया था। हालांकि, हमास ने इस्राइल के इस दावे का खंडन किया है कि वह सैन्य उद्देश्यों के लिए स्कूल, अस्पताल और अन्य नागरिक सुविधाओं का उपयोग करता है।

नुसीरात में इस्राइली हमले में मारे गए थे 16 लोग
क्षेत्र के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, शनिवार को मध्य गाजा के नुसीरात में संयुक्त राष्ट्र द्वारा संचालित अल-जौनी स्कूल पर इस्राइली हमला हुआ था, जिसमें करीब 16 लोग मारे गए थे। फलस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसी, यूएनआरडब्ल्यूए ने कहा कि इस्राइली हमले के समय स्कूल में 2,000 लोगों ने शरण ली हुई थी।

इसके अलगे दिन, इस्राइली सेना द्वारा गाजा शहर में चर्च द्वारा संचालित होली फैमिली स्कूल को निशाना बनाया गया। इस हमले में चार लोगों की मौत हो गई। वहीं, नुसीरात में संयुक्त राष्ट्र द्वारा संचालित एक और स्कूल को इस्राइल ने सोमवार को अपना निशाना बनाया। इस हमले में कई लोगों को घायल होने की खबर सामने आई थी। एक स्थानीय अस्पताल ने कहा कि कई लोगों को इलाज के लिए ले जाया गया था।

हमास द्वारा इस्राइल पर हमले से शुरु हुआ युद्ध
बता दें कि हमास ने सात अक्तूबर को इस्राइल पर हमला किया था, जिसके बाद से इस्राइली सेना ने गाजा में फलस्तीनी क्षेत्र को अपना निशाना बनाया। इस्राइल की जवाबी कार्रवाई के साथ युद्ध की शुरुआत हुई और तब से अब तक गाजा में चलने वाले स्कूल और अन्य आश्रय स्थलों में 500 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button