धन बल, मुफ्त की रेवड़ियां खासतौर से हमारे रडार पर होंगी : सीईसी राजीव कुमार

हैदराबाद. मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) राजीव कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि निर्वाचन आयोग स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी और प्रलोभन मुक्त चुनाव कराने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है. सीईसी की अगुवाई में 17 सदस्यीय दल तेलंगाना में चुनाव तैयारियों का जायजा लेने के लिए हैदराबाद में है. इस दौरान राजीव कुमार ने राजनीतिक दलों, राज्य और केंद्र सरकार के अधिकारियों तथा प्रवर्तन एजेंसियों जैसे विभिन्न पक्षकारों के साथ बैठकें कीं.

पिछले तीन दिन में चुनाव दल की गतिविधियों की जानकारी पत्रकारों को देते हुए राजीव कुमार ने कहा कि प्रवर्तन एजेंसियों को चुनाव के दौरान धन बल के इस्तेमाल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का स्पष्ट संदेश दिया गया है. उन्होंने कहा, ”धन बल, मुफ्त की रेवड़ियां खासतौर से हमारे रडार पर होंगी. अगर वे (प्रवर्तन एजेंसियां) कार्रवाई नहीं करते हैं तो हम कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे. समय नजदीक आने पर हम आकलन और यह सुनिश्चित करेंगे कि वे इन सभी चीजों पर कार्रवाई करें.” उन्होंने पत्रकारों से कहा कि बैंकों को इस संबंध में पैसों के ऑनलाइन लेनदेन पर नजर रखने के लिए कहा गया है.

कुमार ने कहा कि राजनीतिक दलों के साथ बातचीत के दौरान उन्होंने निर्वाचन आयोग से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि तेलंगाना में चुनाव प्रलोभन मुक्त हों. उन्होंने कहा कि तेलंगाना में मतदाताओं की कुल संख्या 3.17 करोड़ है जिसमें पुरुष और महिला मतदाताओं की संख्या समान है.

सीईसी ने कहा, ”तेलंगाना में पहली बार 80 साल की आयु से ऊपर के सभी वरिष्ठ नागरिकों के लिए अपने घर से वोट डालने की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी, यदि वे ऐसी सुविधा चाहें तो.” उन्होंने कहा कि इसी तरह दिव्यांगजन – जिनमें 40 फीसदी या उससे अधिक की शारीरिक अक्षमता है, वे घर से ही वोट डाल सकते हैं.

सीईसी ने चुनाव तैयारियों के विभिन्न पहलुओं पर एक प्रस्तुति दी और राज्य के मतदाताओं से अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील की. उन्होंने कहा कि चर्चा के दौरान राजनीतिक दलों ने शहरी क्षेत्रों में मतदाताओं की भागीदारी बढ़ाने और मतदाता सूची की शुद्धता सुनिश्चित करने का अनुरोध किया.

उन्होंने कहा कि पहली बार मतदाताओं की संख्या 8.11 लाख है, जबकि 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं की संख्या 4.43 लाख है, जिनमें से 7,689 शतायु हैं. ‘सीविजिल’ मोबाइल एप्लिकेशन के बारे में बात करते हुए, जिसका उपयोग जनता आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) के उल्लंघन की रिपोर्ट करने के लिए कर सकती है, उन्होंने कहा कि कोई भी नागरिक कहीं भी होने वाली किसी भी गलत चीज. की तस्वीर ले सकता है जो चुनाव के दृष्टिकोण से अनैतिक है. उन्होंने कहा कि यदि नागरिक चाहे तो वह अपना गुप्त रख सकता है.

उन्होंने कहा कि मतदाता हेल्पलाइन ऐप जनता के लिए मतदाता सूची में अपना नाम जांचने और मतदान केंद्र विवरण देखने के लिए भी उपयोगी होगा. उन्होंने कहा कि प्रलोभन-मुक्त चुनाव सुनिश्चित करने के लिए, राज्य पुलिस, राज्य आबकारी विभाग, केंद्रीय जीएसटी और सीमा शुल्क, राज्य जीएसटी, डीआरआई, सीआईएसएफ, आयकर विभाग और एक राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति सहित कई प्रवर्तन एजेंसियां समन्वय में काम करेंगी. उन्होंने कहा कि अंतरराज्यीय सीमाओं पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी. सीईसी ने कहा कि 88 पुलिस चेकपोस्ट सहित 148 चेकपोस्ट हैं.

Related Articles

Back to top button