नागपुर में विस्फोटक बनाने वाली फैक्टरी में विस्फोट, नौ लोगों की मौत

नागपुर. महाराष्ट्र के नागपुर जिले में विस्फोटक बनाने वाली एक फैक्टरी में रविवार को विस्फोट होने से नौ लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस ने यह जानकारी दी. ‘सोलर इंडस्ट्रीज इंडिया लिमिटेड’ के वरिष्ठ महाप्रबंधक आशीष श्रीवास्तव ने एक बयान में कहा, ”इमारत संख्या एचआर-सीपीसीएच-2 में सुबह नौ बजे एक दुखद घटना हुई, जिसमें नौ श्रमिकों की जान चली गई.” उन्होंने कहा कि कंपनी वर्तमान और भविष्य में मृतकों के परिवारों को हरसंभव सहायता और राहत प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

उन्होंने बयान में कहा, ”जांच समिति की सिफारिशें मिलते ही हम उन्हें लागू करेंगे.” इससे पहले आशीष श्रीवास्तव ने संवाददाताओं को बताया कि यह घटना उस इमारत में हुई, जहां कोयला खदानों में इस्तेमाल होने वाले ‘बूस्टर’ का उत्पादन किया जाता है. उन्होंने बताया कि यह घटना उस समय हुई, जब उत्पादों को सील किया जा रहा था.

उन्होंने बताया कि घायल श्रमिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और बाकी श्रमिकों को इमारत से निकाल लिया गया है. कोंढाली पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना यहां से 40 किलोमीटर दूर स्थित फैक्टरी में हुई, जिससे इमारत को गंभीर नुकसान पहुंचा. उन्होंने बताया कि विस्फोट के समय फैक्टरी में 12 कर्मचारी मौजूद थे.

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट साझा कर इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और नौ लोगों की मौत होने पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार मृतकों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देगी और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने इस फैसले को मंजूरी दे दी है.

फडणवीस ने कहा कि ‘सोलर इंडस्ट्रीज’ में हुए विस्फोट में छह महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गई. उन्होंने कहा कि यह कंपनी सशस्त्र बलों के लिए ड्रोन और विस्फोटक बनाती है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस दुखद मौके पर पीड़ित परिवारों के साथ मजबूती से खड़ी है.

फडणवीस ने कहा, ”मैं नागपुर के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के संपर्क में हूं. महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और जिलाधिकारी घटनास्थल पर हैं.” एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतकों की पहचान युवराज चारोडे, ओमेश्वर माचिरके, मीता उइके, आरती सहारे, स्वेताली मारबते, पुष्पा मनापुरे, भाग्यश्री लोनारे, रुमिता उइके और मौसम पटले के रूप में की गई है.

अधिकारी ने बताया कि घायल श्रमिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है. पुलिस अधीक्षक हर्ष पोद्दार ने कहा कि प्राधिकारी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि इस विस्फोट से कितना नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि विस्फोट के कारणों की गहन जांच की जा रही है और आसपास के क्षेत्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा रही है.

कुछ नहीं चाहिए, बस मेरी बेटी का शव सौंप दो : नागपुर की फैक्टरी में विस्फोट के बाद पिता ने कहा
महाराष्ट्र में नागपुर के निकट विस्फोटक बनाने वाली एक फैक्टरी में हुए विस्फोट में नीलकंठराव सहारे नामक व्यक्ति की बेटी की मौत हो गई. सहारे अपनी बेटी से जुड़ी जानकारी पाने के लिए फैक्टरी के सामने परेशान हाल में खड़े नजर आये. उन्होंने कहा कि बेटी की मौत के बाद जैसे उनकी पूरी दुनिया ही उजड़ गई है. सहारे की बेटी आरती (22) उन नौ लोगों में शामिल थी, जो यहां से लगभग 35 किलोमीटर दूर बाजारगांव इलाके में ‘सोलर इंडस्ट्रीज’ नामक कंपनी में रविवार सुबह हुए विस्फोट में मारे गए थे. आरती परिवार की एकमात्र कमाने वाली सदस्य थीं.

नागपुर की फैक्टरी में विस्फोट: स्थानीय लोगों व कर्मचारियों के रिश्तेदारों ने सड़क जाम की
महाराष्ट्र के नागपुर जिले में विस्फोटक बनाने वाली इकाई में रविवार को धमाके के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों और कर्मचारियों के रिश्तेदारों ने एक राजमार्ग को अवरूद्ध कर दिया. वे धमाके में मारे गए लोगों के शव देखने के लिए फैक्टरी परिसर में जाने की अनुमति देने मांग कर रहे थे. पुलिस ने बाद में भीड़ को तितर-बितर कर दिया.

Related Articles

Back to top button