प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का वाराणसी में रोड शो, पुष्प वर्षा कर किया गया स्वागत

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार की शाम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद एक रोड शो किया. करीब छह किलोमीटर लंबे इस रोड शो के दौरान लोगों ने पुष्प वर्षा करके उनका स्वागत किया. मोदी मंगलवार को काशी के कोतवाल कहे जाने वाले काल भैरव का दर्शन करने के बाद वाराणसी लोकसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. मोदी ने इसके पहले 2014 और 2019 में वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव जीता था और अबकी बार यहां से तीसरी बार उम्मीदवार बनेंगे.

इस बीच प्रधानमंत्री मोदी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्­स’ पर रोड शो का वीडियो साझा करते हुए अंग्रेजी में अपने एक संदेश में कहा, ”काशी विशेष है… यहां के लोगों की गर्मजोशी और स्नेह अविश्वसनीय है.” मोदी सवा दो घंटे तक चले करीब छह किलोमीटर लंबे रोड शो के समापन पर काशी विश्­वनाथ धाम मंदिर पहुंचे. वहां दर्शन-पूजन करने के बाद मोदी बीएलडब्ल्यू गेस्ट हाउस पहुंचेंगे, जहां वह रात विश्राम करेंगे.

भाजपा ने मोदी को वाराणसी संसदीय क्षेत्र से तीसरी बार उम्मीदवार बनाया है, जहां लोकसभा चुनाव के सातवें चरण में एक जून को मतदान होगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भगवा कुर्ता और सफेद सदरी पहनकर विशेष और खुले वाहन पर सवार हुए. इस वाहन पर उनके साथ उप्र के मुख्­यमंत्री योगी आदित्­यनाथ भी सवार हुए.

सोमवार की शाम को मोदी का रोड शो मालवीय चौराहा से संत रविदास गेट होते हुए आगे बढ़ा. मोदी दोनों हाथ जोड़कर लोगों के अभिवादन का जवाब दे रहे थे. लोगों ने फूलों की बारिश कर उनका स्वागत किया. काफी देर बाद रोड शो के बीच में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी भी वाहन पर सवार हो गये.

रोड शो में पांच हजार से ज्यादा महिलाएं मोदी के वाहन के आगे पैदल यात्रा करती दिखीं. रोड शो मालवीय चौराहा से संत रविदास गेट, अस्सी, शिवाला, सोनारपुरा, जंगमबाड़ी, गोदौलिया होते हुए श्री काशी विश्वनाथ धाम तक पहुंचा. रोड शो के दौरान विभिन्न कलाकारों ने मोदी के स्वागत में सांस्कृतिक प्रस्तुति दी. रोड शो में भोजपुरी में ‘हमार काशी-हमार मोदी’ का भी नारा गूंज रहा था. मदनपुरा में मुस्लिम समाज की महिलाओं और पुरुषों ने भी मोदी का स्वागत किया.

मोदी के स्वागत में संत समाज, किन्नर समाज के लोग भी शामिल हुए. जयघोष और शंखनाद के बीच आगे बढ़ते काफिले पर लोग फूलों की बारिश करते दिखे. रोड शो के रास्ते में एक स्वागत स्­थल पर किन्नर संत महामंडलेश्वर कौशल्यानन्द गिरी अपने शिष्यों के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का गुलाब की पंखुड़ियों से स्वागत किया और भाजपा सरकार को इस बार 400 पार का आशीर्वाद दिया.

गिरी ने कहा कि पिछली किसी भी सरकार ने किन्नर समाज के लिए कुछ नहीं किया था, परंतु मोदी सरकार ने समाज के हर वर्ग की भांति उनके समाज को सभी सुविधाओं का लाभ दिया है. इस रोड शो के दौरान मोदी हाथ हिलाकर सबका अभिवादन कर रहे थे. इस दौरान ‘हर घर मोदी-हर हर मोदी’ और ‘अबकी बार-400 पार’ का नारा भी गूंज रहा था. काशी अग्रवाल समाज के लोगों ने मोदी का स्वागत किया.

पदाधिकारियों ने बताया कि रोड शो के दौरान मराठी, गुजराती, बंगाली, माहेश्वरी, मारवाड़ी, तमिल, पंजाबी आदि समाज के लोगों ने अपनी परंपरागत वेशभूषा में मोदी का स्वागत किया. काशी की जनता के साथ ही कई मंत्री, विधायक और वरिष्ठ पदाधिकारी प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करने के लिए कतारबद्ध होकर खड़े रहे.

लखनऊ में जारी एक बयान में कहा गया है कि मंगलवार की सुबह नामांकन पत्र दाखिल करने से पहले मोदी करीब नौ बजे गंगा के तट पर दशाश्वमेध घाट पर पूजा-अर्चना कर सकते हैं. इसमें कहा गया है कि उनके यात्रा कार्यक्रम के अनुसार, नामांकन दाखिल करने से पहले नमो घाट की एक क्रूज यात्रा भी प्रस्तावित है. वहां से प्रधानमंत्री काल भैरव मंदिर जाएंगे और फिर अपना नामांकन दाखिल करने के लिए कलेक्ट्रेट जाएंगे.

नामांकन के बाद प्रधानमंत्री रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे. मंगलवार को पड़ने वाली गंगा सप्तमी के अवसर पर प्रधानमंत्री के गंगा नदी में पवित्र स्नान करने की भी उम्मीद है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन किए गए किसी भी कार्य से मनोकामनाएं पूरी होती हैं. पुष्य नक्षत्र के दौरान किया गया कोई भी कार्य शुभ माना जाता है और सफल होने की संभावना होती है. इस शुभ संयोग में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपना नामांकन दाखिल करेंगे.

बयान के अनुसार प्रधानमंत्री के नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय , महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, राजस्थान के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा, असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा, हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य लोगों के उपस्थित रहने की संभावना है.

Related Articles

Back to top button