हमारी रगों में बहता है सनातन धर्म, अगर हिंदू भावनाएं आहत हुईं तो चुप नहीं रहेंगे : बसवराज बोम्मई

हावेरी (कर्नाटक). भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता बसवराज बोम्मई ने कर्नाटक में गणपति महोत्सव को रोकने का प्रयास करने वालों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर किसी ने भी हिंदू भावनाओं को आहत किया तो वह चुप नहीं रहेंगे.
उन्होंने यह भी कहा कि महान सनातन धर्म उनकी रगों में बहता है.

बोम्मई ने कहा, ”अगर हमारे सनातन धर्म की तुलना मलेरिया से की जाएगी तो क्या हमें चुप रहना चाहिए? सनातन धर्म हमारी रगों में बहता है. अगर किसी ने हमारी भावनाओं को आहत करने का प्रयास किया तो हम चुप नहीं रहेंगे.” हावेरी जिले के बंकापुर में शनिवार को आयोजित हिंदू जागृति सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि गणपति महोत्सव को रोकने का प्रयास किया जा रहा है.

बोम्मई के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में उनके हवाले से कहा गया है, ”हम उस सनातन धर्म से ताल्लुक रखते हैं, जो इस दुनिया में पूरी मानव जाति के कल्याण का प्रसार करता है. पाकिस्तान या अफगानिस्तान के विपरीत यहां सभी धर्मों के लोग रहते हैं.” बोम्मई ने कहा, ”यहां सभी स्वीकार्य हैं. यह सनातन धर्म की खूबसूरती है और कुछ लोग इसे डेंगू एवं मलेरिया बता रहे हैं. क्या उनमें इतनी हिम्मत है कि वे दूसरे धर्मों की तुलना इन बीमारियों से कर सकें? अगर वे ऐसा करेंगे तो क्या होगा?” बोम्मई, सनातन धर्म के खिलाफ द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (द्रमुक) के नेता और तमिलनाडु सरकार में मंत्री उदयनिधि स्टालिन की टिप्पणियों का संदर्भ दे रहे थे.

Related Articles

Back to top button