सुकमा: नक्सली दंपती ने किया आत्मसमर्पण

सुकमा. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में दस लाख रुपए के इनामी नक्सली दंपती ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुकमा जिले के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा और अन्य पुलिस अधिकारियों के सामने नक्सली मड़कम हिड़मा और उसकी पत्नी कुराम हुंगी ने आत्मसमर्पण कर दिया .

उन्होंने बताया कि दंपती ओडिशा के कालाहांडी-कंधमाल-बऊद-नयागढ़ (केकेबीएन) डिवीजन नक्सल गतिविधियों को अंजाम देने में लगे थे. उन्होंने बताया कि उन दोनों पर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम था . पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नक्सली दंपती ने जिले में चल रहे ”पूना नर्कोम (नई सुबह, नई शुरूवात) अभियान से प्रभावित होकर तथा बाहरी नक्सलियों द्वारा भेदभाव करने से तंग आकर सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण करने का फैसला किया है.

उन्होंने बताया कि नक्सली मड़कम हिड़मा के खिलाफ सुकमा जिले के बुरकापाल में वर्ष 2017 में हुए नक्सली हमले में शामिल होने का आरोप है. इस घटना में सुरक्षा बल के 25 जवान शहीद हुए थे, वहीं नक्सली कुराम हुंगी के खिलाफ वर्ष 2020 में मिनपा गांव के करीब सुरक्षा बलों पर हमले की घटना में शामिल होने का आरोप है, इस घटना में 17 जवान शहीद हुए थे. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली दंपती को पुनर्वास योजना के तहत 20 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया है.

Back to top button

[poll id="2"]

This will close in 60 seconds