भाजपा पर हमला करते हुए नीतीश ने कहा, जो उसे वोट देंगे, वे खुद को और देश को बर्बाद करेंगे

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को यहां भाजपा नीत केंद्र सरकार पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि आने वाले लोकसभा चुनाव में जो लोग उसे (भाजपा) वोट देंगे वे खुद को और देश को बर्बाद करेंगे तथा ‘‘जो हमें वोट देंगे, वे अपना, देश और राज्य का भला सुनिश्चित करेंगे.’’

पटना स्थित जनता दल (यूनाइटेड) मुख्यालय में डॉ आंबेडकर जयंती के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा, ‘‘मैं विपक्षी एकता बनाने की दिशा में काम कर रहा हूं, लेकिन मैं प्रधानमंत्री पद का दावेदार नहीं हूं. 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार के खिलाफ गठबंधन बनाने को लेकर सभी विपक्षी दल एकजुट हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक बात बताना चाहता हूं कि जो लोग आने वाले लोकसभा चुनाव में उन्हें (भाजपा को) वोट देंगे, वे खुद को और देश को बर्बाद करेंगे तथा जो हमें वोट देंगे, वे अपना, देश और राज्य का भला सुनिश्चित करेंगे.’’ मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनका एकमात्र लक्ष्य भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए विपक्ष को एकजुट करने के वास्ते काम करना है.

जदयू के शीर्ष नेता नीतीश ने कहा, ‘‘मैंने दिल्ली में कांग्रेस और वाम दलों सहित कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात की. हमारी बहुत सकारात्मक और रचनात्मक मुलाकात हुई. अब मैं अन्य गैर-भाजपा दलों से बात करूंगा और देश भर के दौरे पर जाऊंगा. विपक्षी दलों को एकजुट करना ही एकमात्र लक्ष्य है और इसके लिए हर नेता काम करेगा.’’ नीतीश ने आरोप लगाया कि भाजपा लोगों को धार्मिक आधार पर बांटकर देश को तोड़ने की ‘‘साजिश’’ कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘‘वे (भाजपा) इतिहास को फिर से लिखने के लिए बेताब हैं. लोग जानते हैं कि उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान क्या किया. आजादी की लड़ाई में उनका कोई योगदान था? वे केवल देश में नफरत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्हें पूरे देश से मिटाने की जरूरत है.’’ नीतीश ने कहा कि लोगों को ऐसी ताकतों से सतर्क रहना चाहिए.

उन्होंने राजद के खिलाफ केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई का विरोध जताते हुए कहा, ‘‘केंद्रीय एजेंसियां उनके (राजद नेताओं) लिए तब से परेशानी पैदा कर रही हैं, जबसे हम नई राज्य सरकार बनाने के लिए एक साथ आए. अन्य राज्यों में भी गैर-भाजपा नेताओं के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई शुरू की जा रही है.’’

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में अपने दो दिनों के प्रवास के दौरान नीतीश और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की थी. इसके अलावा, उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल सहित कई अन्य विपक्षी नेताओं से भी मुलाकात की.

Related Articles

Back to top button