विश्वास है कि जनता जैसे इंदिरा के साथ खड़ी हुई थी उसी तरह राहुल का साथ देगी: प्रियंका

हमारे परिवार के लिये संघर्ष का समय: प्रियंका गांधी

श्रृंगेरी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने मौजूदा समय को अपने परिवार के लिए ‘संघर्ष का समय’ करार देते हुए बुधवार को कहा कि उन्हें विश्वास है कि जैसे जनता 45 साल पहले इंदिरा गांधी के साथ खड़ी हुई थी उसी तरह अब उनके भाई राहुल गांधी का साथ देगी.
उन्होंने यहां चुनावी सभा में राहुल गांधी को लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए जाने का उल्लेख करते हुए यह टिप्पणी की.

प्रियंका गांधी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के एक बयान को लेकर उन पर परोक्ष निशाना साधा और सवाल किया कि क्या कर्नाटक के बेटे-बेटियां अपने प्रदेश को नहीं चला सकते. प्रियंका गांधी ने कर्नाटक की भाजपा सरकार पर 1.5 लाख करोड़ रुपये की लूट का आरोप लगाया और लोगों का आ’’ान किया कि वे कांग्रेस की सरकार बनाएं ताकि उनके हित में काम हो सके.

कांग्रेस महासचिव ने अमित शाह का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘सरकार के बड़े-बड़े मंत्री कहते हैं कि यह प्रदेश हमें सौंप दो, वो आपके उम्मीदवारों को आपके सामने खड़ा करके कहते हैं कि इनको मत पूछिये, अपना प्रदेश प्रधानमंत्री जी को सौंप दीजिए. ऐसा क्यों? क्या बसवन्ना जी, नारायण गुरू जैसे महापुरुषों के बेटे और बेटियां अपना प्रदेश नहीं चला सकते?’’ कांग्रेस ने कर्नाटक में अमित शाह के चुनाव प्रचार का एक वीडियो जारी किया है जिसमें वह यह कहते सुने जा सकते हैं कि यह विधानसभा चुनाव केवल एक विधायक चुनने के लिए नहीं बल्कि राज्य के भविष्य को प्रधानमंत्री मोदी के हाथों में सौंपने के लिए है.

प्रियंका गांधी ने यह भी कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक में चुनावी वादे नहीं किए हैं, बल्कि गारंटी दी है तथा सरकार बनने के बाद इस पर अमल शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कांग्रेस की चुनावी ‘गारंटी’ का उल्लेख भी किया. उल्लेखनीय है कि कांग्रेस द्वारा घोषित चुनावी ‘गारंटी’ में कहा गया है कि ‘गृह ज्योति’ योजना के तहत हर महीने 200 यूनिट मुफ्त बिजली, ‘गृह लक्ष्मी’ योजना के तहत परिवार की प्रत्येक प्रमुख महिला को 2,000 रुपये प्रति माह, ‘अन्न भाग्य’ के तहत बीपीएल परिवार के प्रत्येक सदस्य को हर महीने 10 किलोग्राम चावल की पेशकश की जाएगी. इसके अलावा ‘युवा निधि’ के तहत बेरोजगार स्रातकों को प्रति माह 3,000 रुपये तथा डिप्लोमा धारकों को दो साल के लिए 1,500 रुपये प्रति माह दिए जाएंगे.

प्रियंका गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री और अपनी दादी इंदिरा गांधी के चिकमगलुरु से चुनाव लड़ने और उनके श्रृंगेरी मठ का दर्शन करने का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘1978 में जब इंदिरा जी यहां आईं थीं तो उनके लिए संघर्ष का समय था और आज भी मेरे परिवार के लिए संघर्ष का समय है. उस समय भी आज की तरह बारिश हो रही थी. हम मानते हैं कि यह बारिश भगवान का आशीर्वाद है.’’

श्रृंगेरी में एक मंदिर में दर्शन करने के बाद प्रियंका ने कहा, ‘‘मैं शारदा देवी की पूजा करके आ रही हूं. वहां मैं शंकराचार्य से मिली. उन्होंने मुझसे पूछा कि इंदिरा गांधी ने यहां से चुनाव लड़ा था या नहीं? मैंने कहा कि हां वह चिकमगलुरू से चुनाव लड़ी थीं. उन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया. मैंने अपने भाई के लिये आशीर्वाद मांगा, उन्होंने आशीर्वाद दिया.’’

कर्नाटक में 10 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले जिले के बालेहोनूर में कांग्रेस द्वारा आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने (शंकराचार्य ने) मुझे बताया कि मेरे पिता (दिवंगत राजीव गांधी) भी यहां आए थे, इंदिरा जी भी यहां आई थीं और जब इंदिरा जी यहां आई थीं तब वह उनके लिए संघर्ष का समय था.’’ प्रियंका गांधी का कहना था, ‘‘इंदिरा जी के खिलाफ भी एक मामला दर्ज करके उन्हें संसद से निकाला गया था. आप लोग उन्हें संसद में वापस लाए और यह विश्वास दिया था कि जनता साथ है. आज उनके पोते राहुल गांधी को उसी तरह से फर्जी मामला दर्ज कर संसद से बाहर निकाल दिया गया है.

राहुल गांधी और हमारे पूरे परिवार को विश्वास है कि जनता हमारे साथ खड़ी रहेगी.’’ उल्लेखनीय है कि 1975 से 1977 तक आपातकाल की अवधि के बाद उत्तर प्रदेश में रायबरेली क्षेत्र से जनता पार्टी के राजनारायण से चुनाव हारने के एक साल बाद इंदिरा गांधी ने 1978 में चिकमगलुरू संसदीय क्षेत्र से लोकसभा उपचुनाव लड़ने का फैसला किया था.

तब उनके प्रति निष्ठावान माने जाने वाले डीबी चंद्रे गौड़ा (जो बाद में भाजपा में शामिल हो गए) ने उनके लिए सीट खाली की थी और इंदिरा ने कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री और तब जनता पार्टी के उम्मीदवार वीरेंद्र पाटिल को 77,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया था.
उन्होंने आरोप लगाया कि कर्नाटक की भाजपा सरकार ने हर स्तर पर जनता का विश्वास तोड़ा है.

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘‘कर्नाटक में 2.5 लाख सरकारी पद खाली हैं. लेकिन लोगों को नौकरियां नहीं मिल रही हैं. यहां हर पद की कीमत तय कर दी गई है.’’ उन्होंने दावा किया कि कर्नाटक की मौजूदा भाजपा सरकार ने 1.5 लाख करोड़ रुपये लूटे हैं और इतनी रकम से 100 एम्स बन सकते थे. उन्होंने कहा कि ‘कांट्रैक्टर एसोसिएशन’ ने कर्नाटक में भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा, लेकिन कोई जवाब नहीं आया.

प्रियंका गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी के मित्र अडाणी एक दिन में 1600 करोड़ रुपये बना रहे हैं, जबकि देश के किसान की प्रतिदिन की आय 27 रुपये है.’’ कांग्रेस महासचिव ने लोगों का आ’’ान किया कि वो ऐसी सरकार चुनें जो समस्याओं को समझे और उनके लिए दिल से काम करे. उन्होंने कहा, ‘‘भगवान का आशीर्वाद, शिव जी का आशीर्वाद हमेशा हमारे साथ रहेगा, क्योंकि हम सत्य की लड़ाई लड़ रहे हैं. कर्नाटक का यह चुनाव सच की लड़ाई भी है.’’ चुनावी सभा से पहले प्रियंका गांधी ने श्रृंगेरी शारदा पीठ में दर्शन किए.
वह मैसुरु में डोसे की मशहूर दुकान ‘मायलारी होटल’ भी गईं जहां उन्होंने डोसा बनाने में अपना हाथ आजमाया.

जनसभा के बाद प्रियंका गांधी ने हिरियूर में विशाल रोडशो किया. विशेष रूप से डिजायन किये गये वाहन में खड़ीं प्रियंका ने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया. सड़कों पर और आसपास के भवनों पर बड़ी संख्या में खड़े लोगों ने उनका अभिवादन एवं स्वागत किया. कर्नाटक में 224 सदस्यीय विधानसभा के लिए 10 मई को चुनाव होंगे तथा 13 मई को परिणाम घोषित किये जाएंगे.

Related Articles

Back to top button