भारत बनेगा विश्व गुरु, युवा करेंगे देश के इस परिवर्तन का नेतृत्व : अभाविप बैठक में अमित शाह

नयी दिल्ली. गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि भारत का समय आ गया है और यह युवाओं पर है कि वे विश्वगुरू के रूप में उभर रहे इस देश में बदलावों की अगुवाई करें. शाह ने यहां बुराड़ी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) के 69वें राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन पर कहा कि युवा देश की रीढ. हैं और उनकी ताकत ही देश और समाज को शिखर पर ले जाती है.

मंत्री ने कहा, “यह भारत का समय है और इस परिवर्तन को आगे बढ.ाने का काम युवाओं को करना है.” शाह ने कहा कि सुनहरा भविष्य देश के युवाओं का इंतजार कर रहा है क्योंकि नरेन्द्र मोदी सरकार के शासन में पिछले 10 वर्षों में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद और जातिवाद की जगह विकास ने ले ली है.

उन्होंने कहा, ”यह भारत का समय है . पूरी दुनिया हर समस्या के समाधान के लिए उम्मीद भरी नजरों से भारत की ओर देख रही है. इस परिवर्तन की अगुवाई आप युवाओं को ही करनी है.” छात्र नेताओं को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि शिक्षा के असली मायने ने देश के विकास के साथ व्यक्तिगत विकास में योगदान देना है.

विद्यार्थियों को अयोध्या में राम मंदिर देखने के लिए आमंत्रित करते हुए उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण और विकास विरोधाभासी नहीं हैं. अभाविप की सराहना करते हुए शाह ने कहा कि वह खुद विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे हैं और इस संगठन ने न तो अपना दिशादृष्टि खोयी है और न ही सरकारों को अपने रास्ते से भटकने दिया है.

अभाविप का 69वां राष्ट्रीय सम्मेलन बृहस्पतिवार को शुरू हुआ और इसका समापन रविवार को होगा. सम्मेलन में देशभर से लगभग 10,000 छात्र प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं. सम्मेलन स्थल का नाम ‘इंद्रप्रस्थ नगर’ रखा गया है. शाह ने सम्मेलन का ‘थीम’ गीत भी जारी किया और राष्ट्रीय चेतना से संबंधित पांच पुस्तकों का विमोचन किया.

इस कार्यक्रम में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश सिंह और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संयुक्त महासचिव मुकुंद और राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य सुरेश सोनी के अलावा प्रमुख पदाधिकारी एवं अन्य लोग भी शामिल हुए.

Related Articles

Back to top button