पंजाब सरकार 23 मार्च को भ्रष्टाचार रोधी हेल्पनाइन नंबर जारी करेगी : मुख्यमंत्री भगवंत मान

चंडीगढ़/नयी दिल्ली. पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बृहस्पतिवार को ऐलान किया कि उनकी सरकार 23 मार्च को भ्रष्टाचार रोधी एक हेल्पलाइन जारी करेगी, ताकि लोग रिश्वत मांग रहे या अन्य कदाचार में संलिप्त रहने वाले भ्रष्ट अधिकारियों का उस पर वीडियो ‘अपलोड’ कर सकेंगे.  उन्होंने कहा कि यह उनका ‘‘व्यक्तिगत हेल्पलाइन नंबर’’ है. मुख्यमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि वह राज्य में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार सुनिश्चित करेंगे.

मान ने एक वीडियो संदेश में, लोगों को याद दिलाया कि जब आम आदमी पार्टी (आप) दिल्ली में सत्ता में आई थी, तब लोगों से भ्रष्ट अधिकारियों के आॅडियो या वीडियो मुहैया करने को कहा गया था. उन्होंने दावा किया, ‘‘इससे दिल्ली में भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो गया. ’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आने वाले समय में, हम एक ऐसा हेल्पलाइन नंबर जारी करेंगे, जो मेरा व्यक्तिगत व्हाट्सएप नंबर होगा. यदि कोई आपसे रिश्वत मांगेगा, तो इससे इनकार नहीं करें. इसका एक वीडियो या आॅडियो रिकार्ड कर लें और इस नंबर पर भेज दीजिए. मैं आपको गारंटी देता हूं कि हमारा कार्यालय इसकी पड़ताल करेगा और कोई भ्रष्ट व्यक्ति बख्शा नहीं जाएगा तथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

मान ने कहा कि हेल्पलाइन नंबर स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत ंिसह की पुण्यतिथि पर 23 मार्च को जारी किया जाएगा.
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पंजाब के इतिहास में एक बड़ी घोषणा होगी. उल्लेखनीय है कि आप ने हालिया पंजाब विधानसभा चुनावों में 117 सीटों में 92 पर जीत हासिल की थी.

आप ने दिल्ली में भ्रष्टाचार का सफाया किया, मुख्यमंत्री मान पंजाब में इसे खत्म करेंगे:केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में भ्रष्टाचार का सफाया कर दिया है और उनके समकक्ष भगवंत मान तथा उनके मंत्री अब पंजाब में एक ईमानदार सरकार चलाएंगे.
उन्होंने महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत ंिसह के शहादत दिवस पर 23 मार्च को एक व्हाट्स ऐप नंबर जारी करने की मुख्यमंत्री भगवंत मान की घोषणा का स्वागत किया. मान ने एलान किया है कि अगर कोई सरकारी अधिकारी रिश्वत मांगता है, तो लोग इस नंबर पर बातचीत की रिकॉर्डिंग साझा कर सकते हैं.

केजरीवाल ने आॅनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अगली बार, यदि कोई आपसे रिश्वत मांगता है, तो इनकार नहीं करें. अपना मोबाइल फोन निकालिए और इसे रिकार्ड कर उस नंबर पर भेज दीजिए, जो जारी किया जाएगा. यह उनका (मान का) व्यक्तिगत व्हाट्स ऐप नंबर होगा. हम उस अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.’’ केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने दिल्ली में 49 दिनों वाली अपनी पहली सरकार के दौरान इसी तरह का कदम उठाया था.

उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने पहली बार सरकार बनाई थी, तो मैंने भी एक व्हाट्स ऐप नंबर जारी किया था और उन 49 दिनों के दौरान, हमने 30-32 अधिकारियों को जेल भेजकर उनके खिलाफ कार्रवाई की थी. दिल्ली में भ्रष्टाचार का सफाया कर दिया गया और फोन आम आदमी को सशक्त करने का सबसे बड़ा औजार बन गया.’’ केजरीवाल ने दावा किया कि प्रधानमंत्री ने बाद में एक आदेश जारी किया और भ्रष्टाचार रोधी शाखा को आप सरकार से छीन लिया था.

उन्होंने कहा, ‘‘देश की आजादी को 75 साल हो गये हैं, लेकिन हमें अब तक रिश्वत देना पड़ता है. सभी राजनीतिक दल भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं. आम आदमी पार्टी पहली ऐसी पार्टी है, जो एक ईमानदार सरकार चला रही है. मैं और मेरे मंत्री, मान और उनके मंत्री भ्रष्ट नहीं हैं. हम ‘हफ्ता’ नहीं चाहते. जिस तरह हमने दिल्ली में भ्रष्टाचार का सफाया कर दिया, हम पंजाब में भी उसी तरह से भ्रष्टाचार का उन्मूलन कर देंगे. ’’ आप नेता भगवंत मान ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली.
उल्लेखनीय है कि आप ने हालिया पंजाब विधानसभा चुनाव में 117 में से 92 सीट पर जीत हासिल की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button