अनुराग ठाकुर ने युवा प्रवासियों से भारत में निवेश, नवाचार करने की अपील की

इंदौर. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने रविवार को युवा भारतीय प्रवासियों से भारत में निवेश करने, नवाचार शुरू करने और देश की समस्याओं का समाधान करने में योगदान देने की अपील की. तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए ठाकुर ने कहा, ‘‘भारत 2022 में दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया. उसने उस देश (ब्रिटेन) को पछाड़कर यह उपलब्धि हासिल की, जिसने 200 वर्षों तक उस पर राज किया.’’ उन्होंने युवा भारतीय प्रवासियों से ‘‘भारत में नवाचार, निवेश और विचारों को आरंभ करने’’ का आग्रह किया.

ठाकुर ने कहा, ‘‘भारत आए युवा प्रवासी देश के अन्य युवाओं से जरूर मिलें और उनके साथ घूमने का प्रयास अवश्य करें. आप भारत में जितना घूमेंगे, भारत की विशेषताओं एवं समस्याओं को उतना अधिक समझेंगे. आप समस्याओं का समाधान करने में आप बहुत बड़ा सहयोग कर सकते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘बीते साल भारत स्टार्ट-अप के मामले में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश बन गया. उस समय जब पूरी दुनिया महामारी से लड़ रही थी, तब भारतीय युवाओं ने स्टार्ट-अप शुरू करने का अवसर देखा.’’

ठाकुर ने कहा, ‘‘भारत के युवाओं ने ही पिछले आठ वर्षों में भारत को दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप देश बनाने का काम किया है. आज देश में 80,000 से ज्यादा स्टार्टअप हो गए हैं.’’ इससे पहले, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में दीप प्रज्ज्वलित कर युवा प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम की शुरुआत की.

आॅस्ट्रेलियाई सांसद जेनेटा मैस्करेनहास युवा प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि के तौर पर शामिल हुईं. वहीं, केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर, केंद्रीय खेल राज्य मंत्री निसिथ प्रामाणिक और दुनिया के 70 से ज्यादा देशों से आए प्रवासी भारतीयों व गणमान्य व्यक्तियों ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की.

प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन वर्ष 2019 के बाद पहली बार आॅफलाइन स्वरूप में आयोजित किया जा रहा है. 2021 में पिछला प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन कोविड-19 महामारी के चलते आॅनलाइन आयोजित किया गया था. सम्मेलन के 17वें संस्करण का विषय ‘प्रवासी : अमृत काल में भारत की प्रगति के लिए विश्वसनीय भागीदार’ निर्धारित किया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि लगभग 70 देशों में बसे 3,500 से अधिक प्रवासी भारतीयों ने इस सम्मेलन के लिए पंजीकरण कराया है.
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को इस सम्मेलन का औपचारिक उद्घाटन करेंगे. गुयाना के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद इरफान अली इस सम्मलेन में मुख्य अतिथि, जबकि सूरीनाम गणराज्य के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी विशिष्ट अतिथि होंगे. मंगलवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार 2023 प्रदान करने के साथ इस सम्मेलन के समापन सत्र की अध्यक्षता करेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button