उड्डयन मंत्री ने अकासा एअर की पहली उड़ान को दिखाई हरी झंडी

नयी दिल्ली. नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को ”अकासा” एअर कंपनी की पहली व्यावसायिक उड़ान को हरी झंडी दिखाकर मुंबई से अहमदाबाद के लिए रवाना किया. निवेशक राकेश झुनझुनवाला और विमानन क्षेत्र के कारोबारी आदित्य घोष और विनय दूबे द्वारा सर्मिथत ‘अकासा एअर’ को सात जुलाई को नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) से उड़ान के लिए (एअर आॅपरेटर) प्रमाणपत्र मिला.

मुंबई हवाई अड्डे पर मौजूद झुझुनवाला ने कहा, ”मुझे आपको (सिंधिया) धन्यवाद देना चाहिए क्योंकि लोग कहते हैं कि भारत की नौकरशाही बहुत खराब है लेकिन नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने हमें जो सहयोग दिया है, वह अविश्वसनीय है.” उन्होंने कहा कि दुनिया में कहीं भी कोई एअरलाइन 12 महीनों में तैयार नहीं हुई है.

उन्होंने कहा, ”आम तौर पर नौ महीने में बच्चा पैदा होता है, हमें 12 महीने लगे. यह नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सहयोग के बिना संभव नहीं होता.” उड़ान को हरी झंडी दिखाने के बाद, सिंधिया ने कहा कि यह वास्तव में भारत में नागरिक उड्डयन क्षेत्र के लिए कई कारणों से एक ‘‘नयी सुबह’’ है.

उन्होंने कहा, ”दुनिया भर में यह क्षेत्र पिछले एक या दो दशक से बहुत कठिन दौर से गुजÞर रहा है. कई घटनाओं के कारण इस उद्योग में विश्व स्तर पर बदलाव आए हैं.” सिंधिया ने दावा किया कि सड़क और रेल परिवहन के साथ-साथ उड्डयन क्षेत्र भारत में परिवहन का गढ़ बनेगा.

उन्होंने कहा, ”अकासा के पास भी एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है. अगले पांच साल में इसकी 72 विमानों तक बढ़ने की योजना है. मुझे यकीन है कि भारत का हर हिस्सा अकासा एअर की उड़ानों से जुड़ा होगा.” अकासा एअर क्रमश: 13 अगस्त, 19 अगस्त और 15 सितंबर से बेंगलुरु-कोच्चि, बेंगलुरु-मुंबई और चेन्नई-मुंबई मार्गों पर सेवाएं शुरू करने के लिए तैयार है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button