भाजपा की दक्षिण में विस्तार की कोशिश: तेदेपा, जनसेना को सरकार में मिल सकती हैं अहम जिम्मेदारियां

नयी दिल्ली.दक्षिणी राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सहयोगियों को पुरस्कृत करने के इरादे से रविवार को लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे नरेन्द्र मोदी आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कई सांसदों को अपने मंत्रिपरिषद में शामिल करेंगे. सूत्रों ने यह जानकारी दी.

सूत्रों ने बताया कि आंध्र प्रदेश से विजयी हुए तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) और भाजपा के दो-दो सांसद मोदी के साथ मंत्रिपद की शपथ लेंगे. आंध्र प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने 25 लोकसभा सीट में से 21 पर जीत हासिल की है. राज्य में राजग के घटक के तौर पर भाजपा, तेदेपा और जनसेना ने साथ चुनाव लड़ा था. सूत्रों के मुताबिक, तीन बार के सांसद के. राम मोहन नायडू को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने की संभावना है, जबकि पहली बार सांसद बने डॉ. चंद्रशेखर पेम्मासानी को राज्य मंत्री बनाया जा सकता है.

उद्योगपति और तेदेपा नेता जयदेव गल्ला ने दोनों नेताओं को उनके संभावित तौर पर मंत्रिमंडल में शामिल होने पर बधाई दी.
आंध्र प्रदेश में भाजपा ने तीन सीट पर जीत दर्ज की है और नवनिर्वाचित सांसद एवं पार्टी की राज्य इकाई की प्रमुख डी. पुरंदेश्वरी और नरसापुरम के सांसद भूपति राजू श्रीनिवास वर्मा को मंत्री बनाए जाने की संभावना है. आंध्र प्रदेश में दो सीट पर जीत दर्ज करने वाली जनसेना को लोकसभा उपाध्यक्ष का पद मिलने की संभावना है.

तेलंगाना में भाजपा को भारी सफलता मिली है और राज्य की 17 सीट में से आठ पर जीत दर्ज की है. राज्य से बंडी संजय और जी किशन रेड्डी के मंत्री पद की शपथ लेने की संभावना है. सूत्रों ने बताया कि कर्नाटक में भाजपा के कोटे से चार सांसदों को सरकार में शामिल किए जाने की संभावना है. उन्होंने बताया कि सहयोगी जनता दल (सेक्युलर) के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है. कर्नाटक में राजग को 28 में से 19 सीट मिली है. इनमें भाजपा की 17 और जनता दल (सेक्युलर) की दो सीट शामिल हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button