सरयू में डुबकी लगाने श्रद्धालु उमड़े, योगी ने कहा- कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व

अयोध्या/लखनऊ. कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सोमवार को सुबह भगवान श्री राम की जन्मस्थली, मंदिरों के शहर अयोध्या में सरयू नदी में स्नान करने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े. यहां सरयू नदी में कार्तिक पूर्णिमा का पवित्र स्नान देर शाम तक चलेगा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि भारतीय सांस्कृतिक परंपरा में इस अवसर का विशेष महत्व है.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने सोमवार को सोशल मीडिया मंच ‘एक्­स’ पर एक पोस्ट में कहा, ” उप्र के मुख्­यमंत्री योगी आदित्­यनाथ ने कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं.” अपने संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा, ”भारतीय सांस्कृतिक परम्परा में इस अवसर का विशेष महत्व है. भगवान विष्णु ने इसी दिन मत्स्य अवतार लेकर प्रलय के अंत तक सप्त ऋषियों एवं वेदों की रक्षा की, जिससे सृष्टि का पुन?निर्माण सम्भव हो सका. इसके साथ ही, भगवान शंकर ने इसी दिन त्रिपुरासुर नामक राक्षस का अंत किया. यह पर्व मानव मात्र को प्रकृति से जुड़ने का अवसर प्रदान करता है.”

‘एक्­स’ पर अपने संदेश में उप्र के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी समस्त देश व प्रदेशवासियों को कार्तिक पूर्णिमा तथा देव दीपावली की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दीं. कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सोमवार को सुबह सरयू नदी में स्नान करने के लिए मंदिरों के शहर अयोध्या में बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े. सरयू में कार्तिक पूर्णिमा का पवित्र स्नान देर शाम तक चलेगा.

अयोध्या प्रशासन ने अयोध्या क्षेत्र को तीन सुरक्षा क्षेत्रों में विभाजित किया है जिन्हें 15 सेक्टरों में बांटा गया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए स्नान घाटों पर जल पुलिस, राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और बाढ़ राहत र्किमयों को तैनात किया गया है और सरयू नदी में सुरक्षा के लिए अवरोधक लगाए गए हैं.

अयोध्या के जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा “हमने लगभग 1.5 किलोमीटर लंबी जल बैरिकेडिंग की व्यवस्था की है जो एक समय में लगभग पचास हजार भक्तों को समायोजित कर रही है.” जिलाधिकारी ने कहा, ” प्रशासन इस अवसर पर पवित्र स्नान के लिए अयोध्या में 30 से 40 लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद कर रहा है.”

Related Articles

Back to top button